Sehwag PX
संपत्ति इन्शुरन्स

#Virukipolicy | T&C*

एक व्यापार का स्वामी होने के नाते, आपको यह एहसास होगा कि मुनाफा पैदा करना आसान है लेकिन आपकी कंपनी की जो संपत्तियां आपको मुनाफा पैदा करने में मदद करती हैं उन्हें सुरक्षित रखना कहीं ज़्यादा पेचीदा है।

संपत्ति इन्शुरन्स आपकी संपत्तियों को अचानक और दुर्घटनावश होने वाली क्षति के लिए कवर प्रदान करती है। अगर वे मरम्मत करवा कर ठीक की जा सकती हैं तो इन्शुरन्स कंपनी आपको मरम्मत का खर्चा देगी और अगर वे मरम्मत से ठीक नहीं हो सकती तो इन्शुरन्स कंपनी उसकी जगह आपको दूसी देगी। यह पॉलिसी दस्तावेज़ में परिभाषित होगा कि कौन सी संपत्तियां कवर की जाएंगी और इनमें इमारत, सेवा सुविधाएं, दीवारें और गेट इत्यादि शामिल हो सकते हैं। 

किसी भी संपत्ति को किसी भी तरह की इन्शुरन्स पॉलिसी से कवर करवाइए। यानी कि एक इन्शुरन्स की हुई संपत्ति वह होती है जिसमें इन्शुरन्स कंपनी संपत्ति में नुकसान या क्षति होने पर संपत्ति के मालिक को नुकसान की भरपाई करती है। ज़्यादातर कंपनियों ने अपनी संपत्तियों पर इन्शुरन्स पॉलिसी ले राखी होती है, कम से कम भौतिक संपत्तियों पर तो ज़रूर ली होती है, ताकि उन से जुड़े जोखिम इन्शुरन्स कंपनी उठाए। इसी तरह से, ज़्यादातर व्यक्ति अपनी निजी संपत्तियों की भी इन्शुरन्स करवाते हैं जैसे उनका घर या कार।

संपत्ति इन्शुरन्स का महत्त्व

किसी भी संस्थान की अपनी भौतिक संपत्तियों का कुछ आर्थिक मूल्य होता है। 

कुछ संस्थाओं के लिए इन प्रमुख व्यापारिक संपत्तियों के बिना काम चलाना मुश्किल और कुछ के लिए लगभग असंभव होता है। 

किसी भी महत्वपूर्ण संपत्ति को खोने का मतलब होता है अपना आधार खोना और उस संपत्ति को पुनर्स्थापित करने के लिए बड़ी राशि खर्च करना।

इसलिए, हर कंपनी के लिए यह ज़रूरी हो जाता है कि किसी भी अप्रत्याशित आकस्मिक दुर्घटना की स्थिति में कंपनी के पास इस संपत्ति को बदलने की कोई सहायता प्रणाली या कोई अन्य तरीका हो।

कंपनी की संपत्तियों को सुरक्षित करने के तरीकों में से एक है कॉर्पोरेट एसेट इन्शुरन्स लेना।

आपकी व्यापारिक संपत्तियों जैसे इमारत, प्लांट और मशीनरी, औज़ार, सामान और काम के संचालन के लिए ज़रूरी अन्य सामान की सुरक्षा के लिए बहुत सारी इन्शुरन्स स्कीमें बनाई गई हैं।

व्यापार के मालिक को या साझेदार को व्यापार के महत्वपूर्ण औज़ारों और अन्य चीज़ों को पहचानना चाहिए और अपनी ज़रूरत के हिसाब से संपत्ति इन्शुरन्स खरीद लेनी चाहिए।

भारत में संपत्ति इन्शुरन्स के विभिन्न प्रकार

फायर इन्शुरन्स - आपका कार्यस्थल।फैक्ट्री दुनिया के सामने आपकी पहचान है। आप अपने दफ्तर को बड़े उत्साह के साथ नियंत्रित करते हैं और उसका रख रखाव करते हैं। आग लगने की एक बड़ी दुर्घटना कंपनी पर ऐसी तबाही लाती है कि कई संस्थान दुबारा इससे उबर नहीं पाते। फायर इन्शुरन्स पॉलिसी के महत्त्व पर जितना ज़ोर दिया जाए उतना कम है। 

फायर इन्शुरन्स ना सिर्फ आपके कार्यस्थल के ढाँचे और सामान को आग के जोखिम के लिए कवर प्रदान करती है बल्कि कई दूसरे जोखिमों जैसे तूफ़ान, बिजली गिरना, बाढ़, भूकंप, दंगे, आतंकवाद और अन्य के लिए भी कवर प्रदान करती है।

बर्गलरी इन्शुरन्स - यह पॉलिसी व्यापारिक परिसर के अंदर की संपत्तियों को कवर करती है। साथ ही यह नगदी, कीमती सामान, सेफ में रखे कीमती कागज़ात और धातु की तिजोरी में पड़ी नगदी को भी कवर करती है।

इक्विपमेंट ब्रेकडाउन कवरेज - उपकरणों में अचानक आने वाली खराबी उपकरणों के लिए हानिकारक हो सकती है और उत्पादन में महंगी देरी का कारण बन सकती है और नगदी प्रवाह में बाधा उत्पन्नकर सकती है। यह पॉलिसी विभिन्न जोखिमों की वजह से मशीनों में होने वाली खराबियों को कवर करती है। यह पॉलिसी उन संस्थानों के लिए आधारभूत और ज़रूरी है जो बहुत सी बड़ी और विभिन्न प्रकार की मशीनों का संचालन करते हैं। साथ ही एक मशीन में होने वाली खराबी पूरी निर्माण इकाई को बंद कर सकती है।

कैश इन्शुरन्स - सभी संगठन नगदी और बैंकों के ड्राफ्ट आदि के साथ काम करते हैं।, जिससे इस तरह की कवरेज ज़रूरी हो जाती है। यह इन्शुरन्स निम्नलिखित चीज़ें कवर करती है:

  • जब पैसा इन्शुरन्स किए गए व्यक्ति या उसके कर्मचारी की निजी निगरानी में कहीं ले जाया जा रहा हो।
  • कार्य के समय में परिसर में पड़ा धन।
  • व्यावसायिक/कार्य समय के बाद किसी सुरक्षित या मज़बूत कमरे में पड़ा धन।

सभी जोखिमों की कवरेज 

यह पॉलिसी  कीमती सामान जैसे गहने, कलाकृतियां और इसी तरह की भावनात्मक कीमत वाली चीज़ों को कवर प्रदान करती है। 

यह पॉलिसी बहुत सारी चीज़ों पर कवर प्रदान करती है और आग, हड़ताल, सेंधमारी,चोरी और जानबूझ कर ना किए गए नुकसान और क्षति को भी कवर करती है।

संपत्ति इन्शुरन्स कैसे आपकी सहायता कर सकती है?

संपत्ति इन्शुरन्स व्यापार को अप्रत्याशित जोखिमों के लिए बहुत ज़रूरी कवरेज प्रदान करके उसे सुचारू रूप से चलाने में मदद करती है।

चाहे छोटी हो, माध्यम या बड़ी, किसी भी इमारत या संपत्ति को खरीदने में लगाईं गई पूँजी बहुत ज़्यादा होती है। 

संस्थान के साथ होने वाली दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं और विपत्तियां इसे बहुत ज़्यादा नुकसान पहुंचा सकती हैं।

साथ ही सर पर खड़ी ज़िम्मेदारियाँ, गिरवी रखी चीज़ों के बिल और  वालों के प्रति ज़िम्मेदारी आपकी कंपनी को बंद होने के कगार पर ला सकती हैं।

संपत्ति इन्शुरन्स लेना यह सुनिश्चित करता है

  • संपत्तियों के खराब होने, टूटने या चोरी होने के जोखिम के लिए सुरक्षा मिलती है और आप अपना व्यापार चलाते रह सकते हैं।
  • आग, बिजली गिरना, बाढ़ या धमाकों जैसी दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं की वजह से होने वाले आय के नुकसान के लिए सुरक्षा।
  • मुक़दमों और उनसे संबंधित दावों के लिए सुरक्षा।

संपत्ति इन्शुरन्स खरीदना अभी तक एक कम लोकप्रिय विचार रहा है लेकिन अब व्यापारों के मालिक इसके महत्व को समझने लगे हैं और इसे खर्चे की बजाय निवेश की तरह देखने लगे हैं।

अगर आप उनमें से एक व्यापार के मालिक हैं, तो उन सभी संपत्तियों की जांच कीजिए जिन्हें व्यापार को स्वस्थ रूप से चलाने और संपत्ति से संबंधित जोखिमों से सुरक्षित करने के लिए कवर करवाना ज़रूरी है।

कुछ आसान क़दमों में संपत्ति इन्शुरन्स ऑनलाइन खरीदिए

यदि आपने संपत्ति इन्शुरन्स ऑनलाइन खरीदने का फैसला कर लिया है तो आपको कुछ दस्तावेज़ प्रदान करने होंगे, जैसे:

  • बिना किसी परेशानी और लंबी चौड़ी कागज़ी कार्यवाही के आप हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी ऑनलाइन खरीद सकते हैं।
  • पॉलिसी खरीदने में 10 मिनट से कम का समय लगता है।
  • केवल अपनी ज़रूरत और पसंद के हिसाब से मूल विवरण भरें और अपनी ज़रूरत की सब से अच्छी इन्शुरन्स पॉलिसी ढूँढ लें।
  • तीस सेकंड से कम में कई कंपनियों के प्लान की तुलना कर लें और अपने इन्शुरन्स निवेश के लिए एक समझदारी भरा निर्णय लें।
  • जो प्लान आपके मानदंडों को पूरा करता है उसे चुन लें और मिनटों में इन्शुरन्स करवा लें।
  • पांच मिनट में ऑनलाइन प्रपोजल फॉर्म पूरा भर लें जिसमें सिर्फ आपको भविष्य के लिए ज़रूरी मूल विवरण ही भरना होता है।
  • अपना डॉक्यूमेंट अपलोड कर दें और जो प्लान खरीदना चाहते हैं उसके लिए पैसे का भुगतान कर दें।
  • और लीजिए: अब आपको पॉलिसी के अंतर्गत कवर प्राप्त हो गया।