Sehwag PX
फायर एंड बर्गलरी इन्शुरन्स

#Virukipolicy | T&C*

फायर इन्शुरन्स एक निश्चित अवधि के अंदर आग की वजह से आपके सामान या चीज़ों को नुकसान या तबाह होने की स्थिति में होने वाले आर्थिक नुकसान के लिए एक सहमत राशि के अंदर कवर प्रदान करती है। 

यह कवरेज उस अधिकतम राशि को स्पष्ट रूप से बताती है जिसकी घोषणा इन्शुरन्स करवाने वाला व्यक्ति नुकसान होने की स्थिति में कर सकता है। यह राशि हालांकि, नुकसान को नापने का पैमाना नहीं होती। नुकसान का आकलन आग लगने के बाद ही किया जा सकता है। बीमाकर्ता का क्षतिपूर्ति करने का दायित्व पॉलिसी में इन्शुरन्स की गई अधिकतम राशि तक होता है।

यह जानने के लिए कि कंपनियां कैसे आपकी इन्शुरन्स करने के लिए प्रतिस्पर्धा करती हैं आप अपनी प्रश्नोत्तरी पूरी कीजिये। सिर्फ पॉलिसी का सही आकलन करने और सही पॉलिसी चुनने से ही आप 25% तक की बचत कर सकते हैं।

इन्शुरन्स में ये शामिल हैं

  • भट्टी से नुकसान
  • बिजली गिरना 
  • विस्फोट या अंत:स्फोट 
  • जहाज़ से नुकसान 
  • विद्रोह/हड़तालें/दुर्भावना से क्षति करना
  • तूफ़ान, अंधड़, बाढ़, जलभराव से नुकसानn
  • अवतलन और भूस्खलन जिसमें पत्थर खिसकना भी शामिल है 
  • पानी की टंकियों, उपकरणों और पाइपों का फटना या ओवरफ्लो होना 
  • मिसाइल जांच करने के कार्य 
  • स्वचालित छिड़काव यंत्र से लीकेज 
  • झाड़ झंखाड़ में आग लगने से नुकसान

फायर इन्शुरन्स पॉलिसियों के प्रकार

कम्प्रेहैन्सिव पॉलिसी - इसे मल्टी फंक्शनल पॉलिसी भी कहते हैं और यह आग, चोरी, सेंधमारी, थर्ड पार्टी जोखिम आदि के खतरों को कवर करती है। यह आय में होने वाले उस नुकसान को भी कवर कर सकती है जो आग की वजह से संस्थान के बंद रहने से होता है। 

वैल्यूड पॉलिसी आमतौर पर उन घरों को दी जाती है जहां चीज़ों की बाजार की कीमत तय करना मुश्किल होता है उदाहरण के तौर पर दुर्लभ या कीमती कलाकृतियां, पांडुलिपियां, चलन से बाहर हुए औज़ार या ऐसे ही उपकरण जिनकी कीमत लगाना मुश्किल है उनके लिए बीमाकर्ता एक सर्टिफिकेट लेता है। इसके अंतर्गत पॉलिसीधारक इन्शुरन्स लेते समय तय हुई राशि ले सकता है। नुकसान या खोने की स्थिति में बीमाधारक को नुकसान की कीमत चाहे कितनी भी हो, एक तय राशि का ही भुगतान किया जाता है।

फ्लोटिंग कवरेज ऐसी कवरेज है जो एक तय राशि और एक प्रीमियम में ऐसे व्यक्ति की संपत्ति को कवर करती है जिसकी संपत्ति को भट्टी से नुकसान हुआ हो और वह संपत्ति किसी दूसरे स्थान पर हो। इस प्रकार की कवरेज दो अलग अलग गोदामों में पड़े सामान को कवर कर सकती है। इस प्रकार की कवरेज हमेशा कॉमन क्लॉज़ की शर्तों के अंतर्गत प्रदान की जाती है।

सब्स्टीट्यूट या रींस्टेटमेंट पॉलिसी ऐसी कवरेज है जिसमें बीमाकर्ता रींस्टेटमेंट क्लॉज़ डाल देता है जिसके ात वह आग से खराब या ख़त्म होने वाली चीज़ों के बदले नई चीज़ों की कीमत का भुगतान करने की ज़िम्मेदारी लेता है। इसके परिणामस्वरूप वह नकद भुगतान की बजाय चीज़ें दुबारा खरीद कर या उपकरण दुबारा लगा कर दे सकता है। इस प्रकार की कवरेज में इन्शुरन्स करवाने वाले व्यक्ति को दोनों में से एक विकल्प चुनना होता है, यानी कि नकद भुगतान चाहिए या चीज़ें दुबारा खरीद कर दी जाएं। एक बार चुनने के बाद यह विकल्प बदला नहीं जा सकता।

यूनिक कवरेज ऐसी कवरेज है जिसमें एक चुनी हुई राशि तक ही कवर मिलता है और यह राशि सामान की असली कीमत से कम होती है। क्षतिपूर्ति की राशि को तय करते समय सामान की असली कीमत को ध्यान में नहीं रखा जाता। ऐसी कोई भी पॉलिसी एवरेज क्लॉज़ के लिए कोई समस्या नहीं होती। कॉमन क्लॉज़ एक ऐसा क्लॉज़ है जिसे इस्तेमाल करके बीमाधारक को भी नुकसान का एक हिस्सा ही माना जाता है। इस क्लॉज़ का मुख्य उद्देश्य है कि कवरेज की राशि कम ना हो, पूरी कवरेज की प्रेरणा दी जाए और संपत्ति के मालिकों को प्रेरणा दें की वे अपनी संपत्ति की कीमत का आकलन सही तरीके से करवाएं। अगर बीमाकर्ता एक एवरेज क्लॉज़ डाल देता है तो इसे एवरेज पॉलिसी कहते हैं।

फायर इन्शुरन्स में शामिल नुकसान

आग बुझाने के लिए इस्तेमाल हुए पानी की वजह से खराब हुआ सामान या टूटी हुई संपत्तियां।

लपटें फैलने से रोकने के लिए फायर ब्रिगेड द्वारा साथ वाले परिसर को गिराया जाना।

आग लगी हुई इमारत से चीज़ों को बाहर निकालते समय उनका टूटना उदाहरण के लिए फर्नीचर का खिड़की से बाहर फेंकते समय टूटना।

आग बुझाने के लिए लगाए गए पुरुषों और स्त्रियों को दिया गया वेतन।

फायर इन्शुरन्स पॉलिसी के अंतर्गत कवर ना किए जाने वाले नुकसान 

भूकंप, आक्रमण, विदेशी दुश्मन का काम, आक्रामकता या युद्ध, नागरिक उथल पुथल, दंगे या विद्रोह, फ़ौज का शासन, सेना का विद्रोह या दंगे की वजह से होने वाले नुकसान इस पॉलिसी में कवर नहीं होते।

ज़मीन के नीचे लगी हुई भट्टी की वजह से होने वाला नुकसान।

किसी सरकारी आदेश की वजह से संपत्ति के जलने से हुआ नुकसान।

भट्टी लगाते समय या उसके बाद चोरी से हुआ नुकसान।

अपनी खुद की कमी से या अचानक जल जाने से संपत्ति को होने वाला नुकसान या क्षति उदाहरण के लिए पहले से मौजूद कमी की वजह से होने वाला धमाका।

बिजली गिरने या धमाके की वजह से होने वाला नुकसान या क्षति कवर नहीं होते जब तक कि उसकी से भट्टी जल ना उठी हो और उससे आग फ़ैल गई हो।

भट्टी की वजह से होने वाले नुकसान के क्लेम के लिए निम्नलिखित शर्तें पूरी करनी होती हैं

नुकसान वास्तविक आग से या जलने से हुआ होना चाहिए ना कि उच्च तापमान की वजह से।

नुकसान की अनुमानित वजह भट्टी होनी चाहिए।

नुकसान या हानि कवरेज में दिए गए कारणों से संबंधित होने चाहिए।

आग से या तो सामान जला होना चाहिए या वह परिसर जिसमें वह सामान रखा हुआ था।

आग अनजाने में लगी होनी चाहिए ना कि जानबूझ कर लगाई गई हो। अगर आग इन्शुरन्स किए गए व्यक्ति या उसके एजेंटों द्वारा दुर्भाव से या योजनाबद्ध तरीके से लगाईं गई हो, तो बीमाकर्ता इसके लिए जवाबदेह नहीं होगा।

क्लेम की प्रक्रिया

जब क्लेम उत्पन्न होता है तो हमारे स्थानीय कार्यालय को संपर्क कीजिये। नज़दीकी कार्यालयों के बारे में सूचना रिलायंस ट्रेंडी कवरेज ऑफिस लोकेटर के द्वारा पाई जा सकती है।

अपने क्लेम की सूचना देते समय निम्नलिखित सूचना प्रदान करें:

अपने संपर्क नंबर 

पॉलिसी का प्रकार 

दुर्घटना की तारीख और समय 

नुकसान का स्थान 

पुलिस का रिकॉर्ड - इसमें पुलिस को की गई आपकी लिखित शिकायत की कॉपियां और प्राथमिक जांच रिपोर्ट (एफआईआर) होनी चाहिए

क्लेम इनवॉइस - निर्दिष्ट क्लेम इनवॉइस ज़रूरी बिलों और वाउचरों के साथ

चोरी हुई संपत्ति की कीमत के प्रमाण के दस्तावेज़ जिनमें इनवॉइस, बिल या खातों की किताबें हो सकते हैं

आखिरी सर्वे की रिपोर्ट: जो सर्वेयर द्वारा बनाई गए हो

सेंधमारी कवरेज पॉलिसी सर्टिफिकेट की नक़ल

क्षतिपूर्ति का पत्र: अगर आपके पास राइट तो रेस्टोरेशन है तो इन्शुरन्स कारपोरेशन चुनने के लिए एक अधिकार पत्र 

फोटुएं - अगर कोई हैं तो  

नुकसान के बाद तुरंत किए जाने वाले कार्य

तुरंत पुलिस अधिकारियों को बताएं। औपचारिक लिखित शिकायत और एफआईआर प्राप्त करें।

जितनी जल्दी हो सके इन्शुरन्स कंपनी को अनुमानित नुकसान की जानकारी दें।

कंपनी को नुकसान या क्षति होने के दिन से 14 दिन के अंदर सूचना देनी होती है।

यदि क्लेम की राशि 2500 रुपये से कम है तो उसका निपटारा सीधे तौर पर किया जाएगा।

जो क्लेम 2500 रुपये से ऊपर के हैं उनकी इन्शुरन्स एजेंसी द्वारा नियुक्त सर्वेयर द्वारा जांच की जाएगी।

- / 5 ( Total Rating)