Sehwag PX
ग्रुप पर्सनल एक्सीडेंट इन्शुरन्स

#Virukipolicy | T&C*

यह पॉलिसी आवश्यक रूप से उस इन्शुरन्स किए गए व्यक्ति को किसी प्रकार की भरपाई करने के लिए बनाई गई है जिसे पूरी तरह से किसी ऐसी दुर्घटना की वजह से शारीरिक क्षति पहुँचती है जो बाहरी है, हिंसात्मक है और प्रत्यक्ष है। लेकिन इसके साथ ही, इसके बाद दूषण या विकार से होने वाली मृत्यु या नुकसान पॉलिसी के अंतर्गत कवर नहीं होता। एक ग्रुप पर्सनल इन्शुरन्स पॉलिसी में ये विशेषताएं होती हैं:

  • यह ऐसे लोगों के समूह को दी जाती है जिनके जोखिम एक सामान होते हैं
  • यह पालिसी समूह में योगदान करने वाले लोगों को उनके जीवन में किसी दुर्घटना में घायल होने की स्थिति में नुकसान की भरपाई करती है (अपवाद में शामिल कारणों से घायल होने के अलावा)
  • अंतर्राष्ट्रीय परिस्थितियों में भी लागू होती है 

इसके संपूर्ण लाभों में ये शामिल हैं

  • दुर्घटना में मृत्यु 
  • दुर्घटना की वजह से होने वाले अस्पताल के खर्चे 
  • दुर्घटना की वजह से होने वाली संपूर्ण स्थाई विकलांगता 
  • दुर्घटना की वजह से होने वाली आंशिक स्थाई विकलांगता 

ग्रुप पर्सनल एक्सीडेंट इन्शुरन्स - मुख्य अंश

  • यह कवरेज इन्शुरन्स किए गए व्यक्ति को पूरी तरह से किसी बाहर, प्रत्यक्ष और हिंसक तरीके से किसी दुर्घटना के नतीजे में शारीरिक क्षति या मृत्यु होने की स्थिति में भुगतान प्रदान करती है।
  • यह कवरेज विश्व भर में चलती है और 24 घंटे लागू रहती है।
  • एक सबसे साधारण मृत्यु के नियंत्रित कवर से लेकर मृत्यु, स्थायी विकलांगता और अस्थायी साधारण विकलांगता के कम्प्रेहैन्सिव कवर तक कई विशेष कवरेज उपलब्ध हैं।
  • प्राइवेट एक्सीडेंट कवर में एक ही पॉलिसी के अंतर्गत प्रोपोज़र, उसके पार्टनर और निर्भर बच्चों के लिए 10% अतिरिक्त प्रीमियम के साथ कवर लिया जा सकता है।
  • ग्रुप पर्सनल एक्सीडेंट इन्शुरन्स बड़े संगठनों के लिए भी उपलब्ध है जिसमें संगठन के आकार के हिसाब से प्रीमियम कम कर दिया जाता है।

इन्शुरन्स की राशि का हिसाब कैसे लगाएं?

मानवीय जीवन की कोई कीमत लगाना बहुत मुश्किल है। इसलिए इस पॉलिसी पर क्षतिपूर्ति का सिद्धांत नहीं लगाया जा सकता। लेकिन, यह सुनिश्चित करने के लिए कि मानवीय जीवन की कीमत गलत इरादों से ज़रूरत से ज़्यादा न लगाई जाए कोई पैमाना बनाना ज़रूरी हो जाता है। 

इसलिए इन्शुरन्स की कुल राशि को लाभदायक रोज़गार के 72 महीनों में हो सकने वाले मुनाफे के अंदर रखा जाता है। इसका मतलब यह है कि संपत्ति, शेयरों और कई अन्य स्त्रोतों से होने वाली आय को इसमें शामिल नहीं किया जाएगा। किसी ना कमाने वाले पार्टनर के लिए इन्शुरन्स करवाने की राशि कमाने वाले पार्टनर की इन्शुरन्स की राशि के 50% तक सीमित रखी जाती है जिसकी अधिकतम सीमा एक लाख रुपये होती है और चोटों के लिए यह राशि कमाने वाले माता पिता की इन्शुरन्स की राशि के 25% तक रखी जाती है जिसकी अधिकतम सीमा 50 हज़ार रुपये होती है। ग्रामीण नॉन पब्लिक एक्सीडेंट, स्टूडेंट सेफ्टी, राज राजेश्वरी और भाग्यश्री पॉलिसियों में इन्शुरन्स की राशि स्थिर रहती है।

एक्सीडेंट पालिसी में, क्युमुलेटिव बोनस की सुविधा दी जाती है जो की किन्ही 12 क्लेम रहित महीनों में इन्शुरन्स की गई राशि का 5% होता है और उसमें जुड़ जाता है जिसकी अधिकतम सीमा 50% होती है।

इन्शुरन्स क्लेम कैसे लें?

किसी दुर्घटना की वजह से पैदा होने वाले क्लेम कोलेने के लिए ये कदम उठाने होते हैं:

मृत्यु की स्थिति में:

  • कवरेज में नामित व्यक्ति को कवरेज देने वाले कार्यालय को तुरंत सूचना देनी होती है।
  • क्लेम फॉर्म के साथ मृत्यु सर्टिफिकेट, अन्य दस्तावेज़, पुलिस फाइल और यूनिक कवरेज लगाकर भेजें।

हानि की स्थिति में:

  • कवरेज देने वाले कार्यालय को तुरंत सूचित करें।
  • यदि कोई पुलिस रिपोर्ट है तो जमा कराएं।
  • क्लेम फॉर्म भर कर विकलांगता के लिए चिकित्सीय सर्टिफिकेट लगाएं।
  • यदि आपने इलाज के खर्चे का कवर भी लिया हुआ है तो डॉक्टर की पर्ची के साथ भुगतान के बिल भी जमा कराएं।

क्या क्या कवर होता है?

सबसे पहले कवरेज में आते है गैर इरादतन मृत्यु, स्थायी साधारण विकलांगता, स्थायी आंशिक विकलांगता, कुछ समय की संपूर्ण विकलांगता। व्यक्तियों की गैर इरादतन मृत्यु, स्थायी संपूर्ण विकलांगता, स्थायी आंशिक विकलांगता, अस्थायी साधारण विकलांगता भी इसमें शामिल होती हैं।

अतिरिक्त कवर में बच्चे की पढ़ाई की मदद, स्वदेश लौटने का लाभ, और अंतिम संस्कार का खर्चा, जान बूझ कर ना किए गए डॉक्टर के खर्चे, गैर इरादतन अस्पताल में भर्ती होना, संशोधन।संपादन भत्ता भी अतिरिक्त प्रीमियम देकर लिए जा सकते हैं।

अपवाद

  • जान बूझ कर खुद को पहुंचाई गई हानि (जिसमें नशीली दवाओं और शराब का इस्तेमाल या गलत इस्तेमाल शामिल है लेकिन वहीँ तक सीमित नहीं है)।
  • गोलियों या शराब के नशे में हुई दुर्घटना।
  • वास्तविक या प्रयास की गई जेल, विद्रोह, अपराध, दुष्कर्म या नागरिक हलचल में भाग लेना।
  • किसी यात्री (किराए वाले या अन्य प्रकार के) प्रमाणित लोकप्रिय तरीके के हवाई जहाज़ के अलावा किसी अन्य हवाई जहाज़ या गुब्बारे में चढ़ते हुए या उतरते हुए या यात्रा करते हुए होने वाली दुर्घटना।
  • किसी मोटर रेसिंग या परीक्षण में चालक, सह चालक बल या यात्री के रूप में भाग लेना।
  • इन्शुरन्स किए गए व्यक्ति द्वारा प्राप्त कोई रोगनिवारक या अन्य इलाज।
  • गर्भावस्था, बच्चे का पैदा होना, अकाल प्रसव, गर्भपात या इनसे पैदा होने वाली कोई समस्या।
  • पॉलिसी शुरू होने से पहले की कोई विकलांगता।
  • काम संबंधी, यौन संबंधित संक्रामित रोग, एचआईवी (ह्यूमन इम्म्युनोडेफिशियेंसी वायरस) या एड्स (रिसीव्ड इम्म्यून डेफिशियेंसी सिंड्रोम) सहित एचआईवी का संक्रमण या उसकी वजह से होने वाली समस्याएं।
  • कोई भी चिकित्सीय खर्चे, सेवाएं, स्त्रोत, इलाज या अस्पताल जो किसी डॉक्टर द्वारा ज़रूरी नहीं कहे या बताए गए हैं।
  • कोई भी खर्चा जो पूरी तरह से चिकित्सीय नहीं है और/या अप्रमाणित है या किसी प्रकार के प्रयोग के लिए है।
  • आपातकालीन वैज्ञानिक निकास के लिए किए गए खर्चे।
  • लड़ाई, आक्रमण, विदेशी दुश्मनों की गतिविधियां, शत्रुता (चाहे लड़ाई हो या ना हो), नागरिक विरोध, हलचल, विद्रोह, क्रान्ति, फ़ौज से या ज़बरदस्ती ली गई सत्ता, या ज़ब्ती या या राष्ट्रीयकरण या सरकार या अधिकारियों के आदेश के अंतर्गत हुई हानि।
  • नाभिकीय बिजली, रेडिएशन।

हम आपकी मदद कैसे कर सकते हैं?

पॉलिसीएक्स में हम सर्वश्रेष्ठ पर्सनल एक्सीडेंट पॉलिसी खरीदने में आपकी मदद करके आपके जीवन की आपातकालीन स्थितियों के लिए आपको तैयार करते हैं। ऐसी कोई पॉलिसी लेकर आप सुनिश्चित करते हैं कि किसी दुर्भाग्यपूर्ण घटना की स्थिति में आपको या आपके आश्रितों को एक निश्चित आर्थिक सहायता का स्रोत उपलब्ध होता है। हम आपको कई पॉलिसियों की पूरी जानकारी ईमानदार समीक्षा और अनुशंसा के साथ एक ही जगह पर उपलब्ध करवाते हैं। हमारी वेबसाइट पर सूचीबद्ध सभी पॉलिसियां आईआरडीए द्वारा स्वीकृत हैं और इसलिए आपकी ज़रूरत के समय सबसे वैध और विश्वसनीय सहायता प्रदान करती हैं। पॉलिसी खरीदने की पूरी प्रक्रिया के दौरान हम ज़रूरत के समय आपकी सहायता करते हैं।