Sehwag PX
एचडीएफसी कैंसर इन्शुरन्स
  • कवरेज उपलब्ध 10 करोड़ तक
  • टर्म प्लान @ ₹10/प्रतिदिन से शुरू
  • टैक्स लाभ यू /एस 80 सी

#Virukipolicy | T&C*

प्रीमियम की तुलना करें

नाम
फोन नंबर

आगे बढ़ कर आप हमारी T&C और गोपनीयता नीति को स्वीकार कर रहे हैं

कृपया अन्य जानकारी दर्ज करें

जन्म तिथि
आय
ईमेल
शहर

कोई नहीं जानता कि भविष्य में क्या होगा इसलिए कैंसर कवर आवश्यक है, और खासकर तब जब कैंसर कवर नाममात्र की लागत पर मिले तो क्यों नहीं लिया जाये? कैंसर का इलाज बहुत महंगा होता है इसलिए कैंसर और अन्य क्रिटिकल इलनेस के दौरान होने वाले खर्चे से बचने के लिए इन्शुरन्स कराना जरुरी है। एचडीएफसी की वेबसाइट पर कैंसर केयर के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध है| ये इन्शुरन्स प्लान्स कैंसर के सभी स्टेजेस -पहले, दूसरे, तीसरे, कीमोथेरेपी चार्जेज और अतिरिक्त खर्चों को भी कवर करते हैं।

यहाँ पर तीन तरह के कैंसर कवर उपलब्ध हैं- सिल्वर प्लान प्रतिदिन 4 रुपए, गोल्ड प्रतिदिन 5 रूपए, और प्लेटिनम प्लान प्रतिदिन 8 रुपये से भी कम के प्रीमियम पर उपलब्ध हैं।

आप अपनी जरूरत के अनुसार इनमें से कोई भी प्लान चुन सकते हैं। आप हाई समएश्योर्ड अमाउंट पर छूट प्राप्त कर सकते हैं। इसमें आपको कोई अतिरिक्त मेडिकल टेस्ट्स करवाने की जरूरत नहीं हैं| आपको आयकर के अधिनियम, 1961 की धारा 80 डी के तहत कर में भी छूट मिलती है। पॉलिसी लेने के लिए आपकी उम्र 18 वर्ष से 65 वर्ष के बीच होनी चाहिए। पॉलिसी की अवधि 10 से 20 साल के बीच हो सकती हैं।

इन्शुरन्स क्या है?

इन्शुरन्स एक ऐसी व्यवस्था है, जिसका उपयोग हम इमरजेंसी में कर सकते हैं। यह एक प्रकार की बचत है जिसमे आपको कभी किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता है। जब आप या आपके प्रियजन के जीवन में किसी प्रकार का संकट आया हो तो ऐसे समय में आपकी इन्शुरन्स पॉलिसी जीवनदायनी साबित होती है। इन्शुरन्स देने वाली कंपनी को बीमाकर्ता और पॉलिसी लेने वाले को पॉलिसीधारक कहा जाता है। नियम और शर्तें, इन्शुरन्स अमाउंट, इन्शुरन्स शुरू होने का दिन, इन्शुरन्स की अवधि आदि जानकारियाँ एक डॉक्यूमेंट में दर्ज की जाती हैं जिसे इन्शुरन्स पॉलिसी कहा जाता है|

कुछ प्रमुख बीमा कंपनियां और उनके लोकप्रिय प्लान्सस हैं - रिलेगर हेल्थ इन्शुरन्स, एचडीएफसी कैंसर  इन्शुरन्स , आईसीआईसीआई  कैंसर केयर और ऐगोन कैंसर इन्शुरन्स। किसी भी पॉलिसी को खरीदने के पहले आपको यह ध्यान में रखना चाहिए की आपने सभी नियम तथा शर्तों को अच्छी तरह पढ़ और समझ लिया है ताकि क्लेम करने के समय आपको किसी तरह की दिक्कतों का सामना न करना पड़े। आपके एजेंट को पॉलिसी के बारे में सब कुछ स्पष्ट करना चाहिए और यदि आप पॉलिसी ऑनलाइन खरीद रहे हैं, तो सभी नियम या शर्तें ध्यान से पढ़ें। आप वेबसाइट पर एक या अधिक कम्पनियों के सभी प्लान्स को कंपेयर कर सकते हैं|

बीमा पॉलिसियों के प्रकार-

प्रमुख 10 प्रकार की बीमा पॉलिसियां इस प्रकार हैं:

  • लाइफ इंश्योरेंस
  • हेल्थ इंश्योरेंस
  • व्हीकल इंश्योरेंस
  • जनरल इंश्योरेंस
  • मेडिक्लेम
  • इनकम सेफ्टी इंश्योरेंस
  • ट्रैवल इंश्योरेंस
  • प्रॉपर्टी इंश्योरेंस
  • एक्सीडेंटल इन्शुरन्स
  • पेट (पालतू पशु) इन्शुरन्स

इनमें से कुछ लाइफ इन्शुरन्स, हेल्थ इन्शुरन्स, ट्रैवल इंश्योरेंस, व्हीकल इंश्योरेंस, एक्सीडेंटल कवरेज आदि सबसे महत्वपूर्ण और सामान्यतः ली जाने वाली पॉलिसीस हैं, जबकि अन्य ज्यादा प्रचलित नहीं हैं।

भारत में हेल्थ इन्शुरन्स के बारे में चौंकाने वाले तथ्य

आपको यह जानकर शायद हैरानी होगी कि, वर्ष 2014 में किए गए एक सर्वे के अनुसार, 80% से अधिक भारतीयों के पास हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी नहीं है। शहरी आबादी का केवल 18% और ग्रामीण आबादी का 14% (सरकार द्वारा दी गई) हेल्थ इन्शुरन्स के किसी भी रूप में कवर किया गया है। इसके अलावा, यह भी पाया गया कि आय का 80% से अधिक व्यक्तिगत व्यय पर और केवल 9% हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसियों पर खर्च किया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, भारत में हर साल लगभग 10 लाख कैंसर के मामले दर्ज किए जाते हैं।

हेल्थ इन्शुरन्स के प्रकार

हेल्थ इन्शुरन्स के पांच प्रकार हैं:-

  • अस्पताल में भर्ती होने पर मिलने वाला कवरेज
  • फॅमिली इन्शुरन्स पॉलिसी
  • सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स
  • मैटरनिटी हेल्थ इन्शुरन्स
  • क्रिटिकल इलनेस प्लान्स जो हार्ट अटैक और सर्जरी, कैंसर, तथा स्ट्रोक आदि को कवर करती हैं।

क्रिटिकल इलनेस इन्शुरन्स कैंसर के उपचार और अतिरिक्त खर्चों को कवर करता है। कैंसर केयर इन्शुरन्स आसानी से ऑनलाइन खरीदा जा सकता है। बेस्ट कैंसर इन्शुरन्स प्लान्स जैसे की एचडीएफसी, मैक्स लाइफ कैंसर इन्शुरन्स प्लान, फ्यूचर जेनरली कैंसर प्लान आदि को कई अच्छी ऑनलाइन वेबसाइटों में से एक पर आसानी से खोजा जा सकता है। आप किसी भी ऐसी वेबसाइट पे जाकर ऑनलाइन एजेंटों से चैट कर सकते हैं। इन वेबसाइट पर 24/7 ग्राहक सेवा भी उपलब्ध है जो अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों और ग्राहकों की किसी भी समस्या या सवाल का तुरंत समाधान देते है। आप चाहें तो ईमेल भी भेज सकते हैं या टोल-फ्री नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं।

एचडीएफसी लाइफ कैंसर केयर प्रीमियम पेमेंट के तरीके और सामान्य जानकारी

किसी भी पॉलिसी को खरीदने या उसके प्रीमियम का भुगतान करने के लिए कई विकल्प उपलब्ध हैं। आप नेट बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, ऑटो डेबिट आदि का उपयोग कर सकते हैं। आप ईएसआई शुरू कर सकते हैं और जिसमे आपका प्रीमियम बैंक खाते से ऑटोमेटिकली कट जाता है, या आप तिमाही, छमाही या वार्षिक प्रीमियम पेमेंट का विकल्प भी चुन सकते हैं। प्रीमियम अमाउंट की जानकारी के लिए आप एचडीएफसी कैंसर इन्शुरन्स की वेबसाइट पर जा सकते हैं। वेबसाइट पर आप एचडीएफसी कैंसर केयर प्रीमियम की पूरी लिस्ट देख सकते हैं। पॉलिसी खरीदने की प्रक्रिया बिल्कुल सरल है। आपको एक ऑनलाइन फॉर्म में सभी डिटेल्स को सही-सही भरना होगा। पॉलिसी खरीदने के बाद आप इसे ऑनलाइन चेक कर सकते हैं इसके अलावा पॉलिसी से सम्बंधित सारे डाक्यूमेंट्स आपको पोस्ट द्वारा घर पर भी मिल जायेंगे|

कैंसर इन्शुरन्स पॉलिसी आने वाले दिनों में इन्शुरन्स बाजार के महत्वपूर्ण हिस्सों में से एक होने वाली है क्योंकि कैंसर के मामले और इसके बारे में जागरूकता भी बढ़ रही है। ठीक ही कहा गया है कि इलाज से बेहतर है बचाव। एचडीएफसी कैंसर इन्शुरन्स की ख़ासियत यह है कि कंपनी कैंसर के उपचार के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है। अपने पॉलिसीधारकों को यह सुविधा प्रदान करने वाली यह एकमात्र कंपनी है। कैंसर के पता चलने पर आपको एकमुश्त राशि मिलेगी जो इन्शुरन्स अमाउंट का 25% होता है। आप देख और समझ सकते हैं कि कैंसर और इसके जैसे गंभीर और पुरानी बीमारियों के उपचार के दौरान किए गए खर्चों के मुकाबले एचडीएफसी कैंसर इन्शुरन्स एक बेहतर विकल्प है।