Sehwag PX
एसबीआई कैंसर इन्शुरन्स
  • 100+ शीर्ष इन्शुरन्स प्लान
  • 5 लाख रुपये का कवरेज @ ₹16/प्रतिदिन*
  • तुरंत पॉलिसी खरीदें

#Virukipolicy | T&C*

प्रीमियम की तुलना करें

1

2

नाम
कवर फोर
जन्म तिथि (सबसे बड़ा सदस्य)

1

2

फोन नंबर
ईमेल
शहर

आगे बढ़ कर आप हमारी T&C और गोपनीयता नीति को स्वीकार कर रहे हैं

इस तथ्य को सारे विश्व में मान्यता प्राप्त है की कैंसर मनुष्य में होने वाले सबसे खतरनाक रोगों में से एक है| यह बीमारी ना केवल जानलेवा साबित हो सकती है बल्कि एक बहुत ही बड़ी चौंकाने वाली बात यह भी है कि यह कभी भी किसी पर भी हमला कर सकती है|

हालांकि मेडिकल एक्सपर्ट द्वारा आम जनता को जागरूक करने के लिए कैंसर के विभिन्न कारणों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई गई है, परन्तु कैंसर होने के मुख्य कारणों का अभी तक पता नहीं लगाया जा सका है| इसलिए इस बीमारी से होने वाले दुष्प्रभाव को कम करने के लिए कुछ उपाय करने अत्यंत आवश्यक हैं|

एसबीआई कैंसर इन्शुरन्स क्यों महत्वपूर्ण है?

जैसा कि ऊपर पहले ही उल्लेख किया गया है  की कैंसर एक खतरनाक रोग है। इसके अलावा, जब कैंसर की जांच और इलाज की बात आती है  ऐसे में  यह जानना जरूरी है की सुपर-स्पेशिएलिटी कैंसर हॉस्पिटल बहुत ही महंगे  होते हैं । कैंसर के इलाज में उपयोग में आने वाले मेडिकल इक्विपमेंट और महंगी दवाइयों के कारण  इसका इलाज काफी महंगा है इसलिए यह आवश्यक है कि जल्द से जल्द कैंसर इन्शुरन्स से खुद को सुरक्षित कर लिया जाए|

एसबीआई कैंसर इन्शुरन्स: संपूर्ण कैंसर सुरक्षा

  • कैंसर इन्शुरन्स पॉलिसी 6 वर्ष से लेकर 60 वर्ष के बीच की आयु के किसी भी व्यक्ति के लिए उपलब्ध है। पॉलिसी के मैच्योर होने के समय व्यक्ति की अधिकतम आयु 75 वर्ष होनी चाहिए।
  • अगर संपूर्ण कैंसर सुरक्षा पॉलिसी की बात की जाए तो इसमें अनिवार्य रूप से एक नियमित प्रीमियम चुकाना होता है और पॉलिसी  की अवधि 5 वर्ष से 30 वर्ष तक हो सकती है। न्यूनतम समएश्योर्ड रु10 लाख और अधिकतम समएश्योर्ड 50रु लाख तक हो सकता है।
  • जहां तक संपूर्ण कैंसर सुरक्षा के अन्य लाभों का संबंध है, जरूरत पड़ने पर ग्राहक कुल इन्शुरन्स अमाउंट का 120%  का लाभ उठा सकते हैं। संबंधित पॉलिसीधारक कैंसर के विभिन्न चरणों के हिसाब से एकमुश्त पेआउट जैसे इन्शुरन्स अमाउंट का 30% से 150% का लाभ भी प्राप्त कर सकता है।
  • यह सुविधा तब भी लागू होती है जब कैंसर के शुरुआती  लक्षणों का पता चलने के दौरान  इस पॉलिसी को चुना जाता है। इनके अलावा, पॉलिसीधारक शुरुआत में चुनी गई राशि का 40% मासिक आय लाभ के रूप में उठा सकता है। कैंसर के प्रमुख चरण के तहत क्लेम  किए जाने पर बाकी की राशि का एकमुश्त  भुगतान कर दिया जाता है।
  • कैंसर इन्शुरन्स प्लान  इनकम टैक्स की धारा 80 डी के तहत टैक्स बेनीफिट का भी वादा करता है।

संपूर्ण कैंसर सुरक्षा की अन्य महत्वपूर्ण विशेषताएं

  • यह ध्यान रखने योग्य है की कैंसर के शुरूआती परीक्षण के दौरान बीमित राशि या सम एश्योर्ड के 30% का एकमुश्त लाभ लिया जा सकता है।
  • संपूर्ण कैंसर सुरक्षा की एक और बहुत बड़ी खासियत यह है कि यह बहुत कम प्रीमियम पर उपलब्ध है। न्यूनतम मासिक प्रीमियम केवल रु 50 या सालाना रु 600| प्रीमियम अमाउंट पालिसी समएश्योर्ड और पालिसीधारक की आयु पर आधारित होती है।
  • कैंसर के तीनों चरणों माइनर, मेजर, और एडवांस को सम्पूर्ण कैंसर सुरक्षा पालिसी में कवर किया गया है।
  • इन सुविधाओं के अलावा, संपूर्ण कैंसर सुरक्षा में  इस बात  का भी ध्यान रखा गया है की चूंकि प्रत्येक व्यक्ति एक बार में प्रीमियम का पैसा नहीं जमा कर सकता इसलिए एसबीआई ने अपनी प्रीमियम पॉलिसी को लोगों के लिए काफी सरल और सुविधाजनक बना दिया है। प्रीमियम जमा करने के चार विकल्प दिए गए हैं: मासिक, अर्धवार्षिक, त्रैमासिक और वार्षिक। बीमाकर्ता अपनी पसंद और जरुरत के अनुसार उपरोक्त विकल्पों में से किसी भी एक का चुनाव कर सकता है। इसके अलावा, जरुरत पड़ने पर प्रीमियम भुगतान अवधि को बदला जा सकता है वो भी बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के|
  • संपूर्ण कैंसर सुरक्षा  की एक और दिलचस्प विशेषता यह है कि पॉलिसी ऑनलाइन खरीदने पर 5% की छूट मिलती  है।
  • एसबीआई कैंसर इन्शुरन्स पॉलिसी को 6 वर्ष से 65 वर्ष की आयु का कोई भी व्यक्ति खरीद सकता है। बीमाकर्ता के 75 वर्ष का होने पर पॉलिसी मैच्योर हो जाती है|
  • यह ध्यान देने योग्य है कि संपूर्ण कैंसर सुरक्षा इन्शुरन्स पॉलिसी को खरीदने से पहले किसी भी मेडिकल टेस्ट से गुजरने की आवश्यकता नहीं है। हालांकि बाजार में ऐसी कई पॉलिसीज हैं, जिन्हें खरीदने के पहले बीमाकर्ता को पहले एक निश्चत ​​डायग्नोस्टिक सेंटर में प्रारंभिक चिकित्सा परीक्षण से गुजरना पड़ता है। परीक्षण के रिजल्ट के आधार पर या तो पॉलिसी स्वीकार कर ली जाती है या रद्द। लेकिन एसबीआई इन्शुरन्स पॉलिसी में ऐसी कोई बाध्यता ना होने के कारण ये बीमाकर्ता के लिए परेशानी मुक्त और आसान प्रक्रिया है
  • संपूर्ण कैंसर सुरक्षा पॉलिसी भारत सरकार के आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत टैक्स बेनीफिट भी प्रदान करती है ।
  • एसबीआई लाइफ कैंसर के इलाज के लिए मेडिकल ओपीनियन की सुविधा भी प्रदान करता है। आमतौर पर, निजी डॉक्टरों द्वारा दिए जाने वाला सेकंड ओपीनियन काफी महंगा पड़ता है, लेकिन संपूर्ण कैंसर सुरक्षा, कैंसर और कार्सिनोमा इन सीटू के बारे में सेकंड ओपीनियन पूरी तरह से फ्री में उपलब्ध कराता है। इसके अतिरिक्त, पॉलिसीधारक को जरुरी उपचार की योजना मान्यता प्राप्त मेडिकल टीम द्वारा उपलब्ध कराई जाती है|
  • दुनिया के कुछ प्रमुख क्लिनिकल सेंटर्स भी अपने ओपीनियन बताती हैं जिसका बीमाकर्ता लाभ उठा सकता है|
  • एसबीआई “फ्री लुक” कहा जाने वाला एक ऑप्शन भी देता है| कई बार पॉलिसी नियमों की बारीकियों और शर्तों को पॉलिसीधारक ध्यान से  पढ़ या समझ नहीं पाता। और संभव है की भविष्य में जरुरत पड़ने पर यही नियम अनदेखे या नए लग सकते हैं और शायद पसंद ना आए| इसलिए, एसबीआई 15 से 30 दिनों का समय प्रदान करता है, जिसके दौरान ग्राहक यदि किसी नियम या शर्तों से असंतुष्ट है तो वह पॉलिसी वापस कर सकता है। हालांकि, पॉलिसी वापसी का कारण स्पष्ट रूप से बताना जरूरी होता है।

- / 5 ( Total Rating)