Sehwag PX
नेशनल कार इन्शुरन्स
  • कार की क्षति से सुरक्षा
  • व्यक्तिगत दुर्घटना के खिलाफ कवरेज
  • 1,00,000 + संतुष्ट ग्राहक

#Virukipolicy | T&C*

प्रीमियम की तुलना करें

1

2

कार का नाम
कार के प्रकार
आरटीओ कोड
पंजीकरण की तारीख
जारी रखें

नेशनल कार इन्शुरन्स कंपनी(एनआइसी) 6 दिसंबर 1906 भारत को जब स्वदेशी आंदोलन चरम पर था ,अँग्रेज़ी शासन की मौजूदगी में भी एक मज़बूत मूल भारतीय कंपनी बनाने की भारतीय इच्छा की अभिव्यक्ति के तौर पर स्थापित हुई. आज इसकी स्थापना के 107 वर्षों बाद,एनआइसी भारत की सबसे प्राचीन इन्शुरन्स कंपनी और भारत के पूर्वी क्षेत्र में मुख्यालयित एकमात्र पीएसयू नोन लाइफ इन्शुरन्स कंपनी है. 

भारत के दो ज़ोन(उत्तरी और पूर्वी) के मार्केट अधिनायक के रूप में एनआइसी को व्यापार के मोटर और स्वास्थ्य श्रेणी,जो कि भारत के नोन लाइफ इन्शुरन्स मार्केट का 63% भाग है,के अंतर्गत 'बेस्ट इन सर्विस' से नामांकित किया गया है. एनआइसी जनरल इन्शुरन्स उत्पादों का अनुरूपण प्रारंभ करने वाली पहली कंपनी थी. सीआरआइएसआइएल(एक स्टैंडर्ड और ग़रीबों की कंपनी) ने कंपनी को इसकी आर्थिक मज़बूती के लिए एएए रेटिंग दी है. 

आपको नेशनल कार इन्शुरन्स ही क्यों चुनना चाहिए?

जैसा की हमने बताया,नेशनल कार इन्शुरन्स कंपनी 1906 में स्थापित हुई थी. यह भारत की सबसे पुरानी जनरल इन्शुरन्स कंपनी है. यह उत्पाद अनुरूपण शुरू करने वाली पहली कंपनी है विशेषकर ग्रामीण और कॉर्पोरेट ग्राहकों के लिए. इस नयी विचारधारा के साथ इसने काफ़ी प्रसिद्धि पाई है. यह ऑटोमोबाइल दिग्गज मारुति और टूव्हीलर दिग्गज हीरो मोटोकोर्प जैसी अन्य कंपनियों के साथ गठबंधन करने वाली भी पहली कंपनी है. जब बॅंक अश्यूरेन्स व्यवसाय की बात हो तो वहाँ भी इस कंपनी ने भारत की कुछ बड़ी बैंकों के साथ भागीदारी की है और एक महान अग्रदूत साबित हुई है. 

आज नेशनल इन्शुरन्स इसकी कुल प्रत्यक्ष लिखित प्रीमियम(जीडीडब्ल्यूपी) के आधार पर भारत की दूसरी सबसे बड़ी नोन-लाइफ इन्शुरन्स प्रदाता है. 

मोटर इन्शुरन्स कंपनी का सबसे बड़ा विभाग है. तो जब आप एक व्हिकल के इन्शुरन्स में निवेश करते हैं, तो किसी ऐसे भरोसेमंद प्रदाता से लेना बेहेतर होता है जिसका कार्य अच्छा रहा हो. 

नेशनल इन्शुरन्स को विशेष रेटिंग से भी प्रमाणित किया गया है जो कि निवेश में इसकी मज़बूत पूजीकरण,मार्केट में मज़बूत पकड़ और एकरूप प्रदर्शन को दर्शाती है. 

नेशनल कार इन्शुरन्स प्रीमियम कैल्कुलटर 

जब कार इन्शुरन्स प्लान की बात हो, तो पॉलिसी का प्रीमियम की गणना पहले से ही कर लेना हमेशा उचित है. आप यह Policyx.com के कार इन्शुरन्स कैल्कुलेटर की मदद से कर सकते हैं. इसके साथ ही आप प्रीमियम के तौर पर लगने वाली राशि का अंदाज़ा भी लगा सकते हैं. यह आपको एक बजट निर्धारित करने में भी सहायता करता है. 

कार इन्शुरन्स कैल्कुलेटर साधन निम्नलिखित मापदंडों को आदान के तौर पर इस्तेमाल करता है: 

  • आपका विवरण,क्लेम इतिहास,नो क्लेम बोनस प्राप्ति की अवधि,व्यवसाय इत्यादि. 
  • कार से संबंधित जानकारी,जैसे,मॉडल और बनावट,इंजन क्षमता,पंजीकरण क्षेत्र,पंजीकरण तिथि इत्यादि. 
  • यह कोट के रूप में प्रीमियम का अनुमान प्रदान करता है. 
  • यदि आपको कोट सही लगे तो आप पॉलिसी खरीद सकते हैं. 
  • आप मोटर इन्शुरन्स के प्रीमियम की गणना के लिए नेशनल कार इन्शुरन्स प्रीमियम कैल्कुलेटर जो कंपनी के पोर्टल पर उपलब्ध है का उपयोग भी कर सकते हैं.  

नेशनल मोटर इन्शुरन्स प्लान ऑनलाइन क्यों खरीदना चाहिए

नेशनल मोटर इन्शुरन्स प्लान ऑनलाइन खरीदना आप जितना सोचते हैं उससे कई ज़्यादा आसान है. अब तो यह पहले से भी तेज़ है. इसे खरीदने के लिए आपको बस इतना करना है कि एक फॉर्म भरना है जो आपकी व्हिकल और उसके मूल्य का साधारण विवरण पूछता है. इसमे व्हिकल मे प्रस्थापित किए गये सुरक्षा उपकरण,पार्किंग की पूछताछ और अन्य कुछ भी शामिल हो सकता है.यह मूल विवरण प्रदान करके आप अपने लिए बेहेतरिन प्लान आसानी से खरीद सकते हैं. आप नेट बैंकिंग,एटीएम/ डेबिट कार्ड आदि तरीकों से भुगतान कर सकते हैं. 

नेशनल मोटर इन्शुरन्स क्या क्या कवर करता है?

मूलतः नेशनल मोटर इन्शुरन्स के अंतर्गत आप एक विस्तृत शृंखला पाते हैं. उत्पादों की ऐसी विस्तृत शृंखला प्रदान करके कंपनी ग्राहकों की हर आवश्यकता को पूरा करने की कोशिश करती है. एक मूल मोटर इन्शुरन्स की विशेषताए नेशनल मोटर इन्शुरन्स के सभी प्लांस में होंगी. आवश्यक प्लांस आपको आपकी व्हिकल को अवांछित परिस्थितियों जैसे चोरी,द्वेषपूर्ण कृत्य,रोड,रेल से सफ़र के दौरान नुकसान से सुरक्षित रखने में मदद करते हैं. आपको अपनी आवश्यकता अनुसार प्लान चुनना होगा. नेशनल मोटर इन्शुरन्स प्लांस चुनने पर आप विविध प्रकार के अतिरिक्त बोनस भी पा सकते हैं. कम्पनी एक सरल क्लेम सेटलमेंट सेवा प्रदान करती है जो क्लेम जमा करते समय सहायक साबित होती है. यदि आप ऑनलाइन चेक करें तो समझ जाएँगे कि कंपनी क्लेम सेटल करने में माहिर है. यह एक अच्छा क्लेम सेटलमेंट अनुपात बनाए रखती है. कंपनी दो प्रकार से क्लेम सेटल करती है,एक है अदायगी और दूसरा है कैशलेस जो कि बहुत लोकप्रिय है क्योंकि इसके तहत यदि व्हिकल को नुकसान हुआ हो तो आपको अपनी जेब से खर्च करने की आवश्यकता नही है,इन्शुरन्स कंपनी उसे संभाल लेगी. 

भारत में,मोटर इन्शुरन्स का होना अनिवार्य है,मोटर इन्शुरन्स एक्ट के तहत आप भारत की सड़कों पर बिना वैध मोटर इन्शुरन्स के गाड़ी नही चला सकते हैं. ड्राइविंग करने से पहले आपके पास कम से कम थर्ड पार्टी लायबिलिटी कवर तो होना ही चाहिए. 

नेशनल कार इन्शुरन्स प्लांस

लायबिलिटी ओनली प्लान

भारत में हर व्हिकल के पास कम से कम थर्ड पार्टी लायबिलिटी कवर होना आवश्यक है. नेशनल इन्शुरन्स द्वारा थर्ड पार्टी लायबिलिटी प्लान के अंतर्गत जो कवरेज दिया जाता है वो इस प्रकार है: 

  • दुर्घटना के दौरान यह थर्ड पार्टी के प्रति क़ानूनी लायबिलिटी के लिए कवर प्रदान करता है. 
  • यह इंश्योर्ड व्हिकल को कवर नही करता. 

प्लान द्वारा कवर किए गये ख़तरे: 

  • थर्ड पार्टी की क्षति या मृत्यु 
  • थर्ड पार्टी की संपत्ति को हुआ डैमेज. 

कोम्प्रिहेन्सिव/ पैकेज प्लान

यह नेशनल इन्शुरन्स की तरफ से एक पैकेज पॉलिसी है जो कि केवल-लायबिलिटी प्लान के मुक़ाबले अधिक कवरेज प्रदान करती है. 

  • यह ओन-डैमेज कवर और थर्ड पार्टी लायबिलिटी कवर प्रदान करती है. 
  • रोड,रेल,हवाई,लिफ्ट और अंतर्देशीय जलमार्ग पर सफ़र के दौरान हुआ नुकसान. 
  • चोरी,डकैती या लूट. 
  • आतंकवादी गतिविधियाँ,हड़ताल,दंगे या द्वेषपूर्ण कृत्य. 
  • नैसर्गिक आपदाएँ जैसे बाढ़,भूकंप,तूफान,रोक स्लाइड और भूस्खलन. 

अपवाद 

  • कार की स्वाभाविक छिज और घिसाई जिसमे की परिणामिक हानि शामिल है. इलेक्ट्रिकल और मेकैनिकल खराबी,टूट-फुट या अन्य खराबी. 
  • कार के पहियों का नुकसान,यदि कार को भी इससे नुकसान हुआ हो तो वह अपवाद है. इस मामले में इन्शुरन्स कंपनी की लायबिलिटी मरम्मत खर्चे के 50% तक सीमित है. 
  • ड्रग्स या शराब के नशे में गाड़ी चलाना. 

नेशनल कार इन्शुरन्स रिन्युअल प्रक्रिया

ऑनलाइन वेब पोर्टल की मदद से,आप आसानी से अपनी विद्यमान कार इन्शुरन्स पॉलिसी रिन्यु करा सकते हैं. रिन्युअल के समय यदि आप उसके लिए योग्य हों तो एनसीबी के रूप में छूट पाने के भी पात्र हैं. आपको इस प्रक्रिया को शुरू करने के लिए इन्शुरन्स कंपनी के ऑनलाइन पोर्टल पर लॉग-इन करना होगा. 

नेशनल इन्शुरन्स कंपनी लिमिटेड आपको अपना कार इन्शुरन्स प्लान आसानी से रिन्यु कराने का मौका देती है. आप अन्य कंपनी द्वारा जारी कार इन्शुरन्स पॉलिसी भी रिन्यु करा सकते हैं. अन्य इन्शुरन्स कंपनियों की पॉलिसी रिन्युअल 10% छूट की पात्र हैं. 

पेज पर दो लिंक होंगे. एक सूत्र जो नेशनल इन्शुरन्स द्वारा जारी पॉलिसी के रिन्युअल की ओर ले जाएगा और दूसरा जो अन्य इन्शुरन्स कंपनियों के इन्शुरन्स कवर के लिए होगा. रिन्युअल के लिए, आपको बस प्रक्रिया शुरू करने के लिए संबंधित जानकारी जैसे पॉलिसी क्रमांक और ई-मेल आइडी प्रदान करने होंगे उसके बाद स्क्रीन पर दिखाए जाने वाले निर्देशानुसार प्रक्रिया को पूरा करना होगा. अपने साथ अपनी सारी जानकारी तैयार रखिए जैसे कि ऑनलाइन भुगतान के लिए अपने बैंक अकाउंट या क्रेडिट कार्ड का विवरण. सांकेतिक मध्यम आपके बैंक और क्रेडिट कार्ड की जानकारी को सुरक्षित रखता है. 

आप तत्काल एक प्रिंट करने लायक फॉर्मॅट में ई-पॉलिसी प्राप्त कर सकते हैं. इसी की एक कॉपी आपको आपके ई-मेल पते पर भेजी जाएगी. 

नेशनल मोटर इन्शुरन्स पॉलिसी को आपको ऑनलाइन क्यों रिन्यु करना चाहिए?  

यह तो सर्वग्यात है की आजकल राशन से लेकर इलेक्ट्रिकल समान तक सब कुछ लोग ऑनलाइन खरीदना ही पसंद करते हैं. बहुत सी कार इन्शुरन्स कंपनियों के पास सुरक्षित वेबसाइट होती है जिसके ज़रिए कार इन्शुरन्स पॉलिसी खरीदना और रिन्यु कराना आसान होता है. ऑनलाइन पॉलिसी रिन्युअल के लाभ कुछ इस प्रकार हैं: 

सुरक्षा- इन्शुरन्स कंपनी अपने ऑनलाइन पोर्टल पर एक सुरक्षित सिस्टम प्रदान करती है जो कि जागतिक सुरक्षा के  

दर्जे से मेल ख़ाता है. इससे यह सुनिश्चित हो जाता है कि गोपनीय जानकारी सुरक्षित रहे. 

किफायती-लागत- कार इन्शुरन्स को ऑनलाइन रिन्यु करना बहुत ही फायदेमन्द होता है क्योंकि,इन्शुरन्स कंपनियाँ ऑनलाइन खरीद पर कई तरह की छूट देतीं हैं. इन्शुरन्स कंपनी कई तरह के मूल्य मापदंड अपनाती हैं,जैसे कि वितरण और प्रक्रिया मूल्य. इन्शुरन्स कंपनी ग्राहकों को मूल्य बचत के रूप में छूट प्रदान करती हैं. 

सीमित प्रलेखन- ऑनलाइन पॉलिसी रिन्युअल प्रक्रिया में कागज़ी कार्यवाही सीमित होती है. 

सरल और सहज- इन्शुरन्स पॉलिसी ऑनलाइन रिन्यु करने का सबसे बड़ा लाभ है की यह परेशानी रहित प्रक्रिया है. 

पॉलिसी दस्तावेज़ों का बैक-अप- आपकी पॉलिसी का ऑनलाइन कोष रखना बहुत ही मददगार साबित होता है क्योंकि यह एक सुरक्षित संग्रह है और आप जब चाहे इसे पुनः प्राप्त कर सकते हैं. 

नेशनल कार इन्शुरन्स पॉलिसी के लिए जरुरी डॉक्यूमेंट

यदि आपकी इंश्योर्ड व्हिकल किसी ऐसी परिस्थिति में हो जहाँ वो क्लेम पाने के योग्य हो तो आप इन्शुरन्स कंपनी पर सरलता से क्लेम जमा कर सकते हैं. 

इसके लिए इन कदमों का पालन करें

 यदि कोई हानि हुई हो तो आपको एफआइआर करना चाहिए. आपको यह बात ध्यान में रखनी होगी कि चोरी,आग,डकैती,दुर्घटना आदि या थर्ड पार्टी को हुए नुकसान में एफआइआर करना आवश्यक है. यह नैसर्गिक आपदाओं जैसे,भूकंप,बाढ़,आँधी इत्यादि में ज़रूरी नही है. 

  • आपको इंशोरर को जल्द से जल्द सूचित कर देना चाहिए. 
  • आपको क्लेम फॉर्म में सटीक जानकारी देनी चाहिए. 

क्लेम फॉर्म के साथ जमा किए जाने वाले अन्य दस्तावेज़ हैं: 

  • पोलीस रिपोर्ट और एफआइआर 
  • डॉक्टर के सुझाव और जाँच की रिपोर्टें. 
  • दवाई की दुकानों के बिल. 
  • अस्पताल से भरती और छूटने संबंधी प्रमाणपत्र. 
  • इन्शुरन्स कंपनी नुकसान की जाँच परखने के लिए एक सर्वेयर को भेजेगी. 
  • अंत में इन्शुरन्स कंपनी क्लेम सेटल कर देगी. 

इस बात का ध्यान रहे कि इंश्योरर किसी दुविधा के चलते अन्य काग़ज़ात भी माँग सकती है.