Sehwag PX
नेशनल टू व्हीलर इन्शुरन्स
  • बाइक की क्षति से सुरक्षा
  • व्यक्तिगत दुर्घटना के खिलाफ कवरेज
  • 1,00,000 + संतुष्ट ग्राहक

#Virukipolicy | T&C*

प्रीमियम की तुलना करें

1

2

टू व्हीलर का नाम
टू व्हीलर के प्रकार
आरटीओ कोड
पंजीकरण की तारीख
जारी रखें

नेशनल इन्शुरन्स भारत में सार्वजनिक क्षेत्र की बीमा कंपनियों में से सबसे बड़ी और पुरानी कंपनियों में से एक है। यह प्रसिद्ध कंपनी आमतौर पर जनरल इन्शुरन्स उत्पाद जैसे स्वास्थ्य बीमा, मोटर बीमा, यात्रा बिम्मा और और बहुत कुछ प्रदान करती है। यदि आपको किसी जनरल इन्शुरन्स उत्पाद की ज़रूरत है तो इस कंपनी के बारे में सोचना सबसे अच्छा रहेगा।

नेशनल इन्शुरन्स कंपनी के सबसे आम और प्रभावी प्लानों में मोटर इन्शुरन्स प्लान, हेल्थ इन्शुरन्स प्लान, टू व्हीलर इन्शुरन्स प्लान, रूरल इन्शुरन्स प्लान, कमर्शियल रिस्क इन्शुरन्स प्लान, इंडस्ट्रियल रिस्क इन्शुरन्स प्लान, पर्सनल एक्सीडेंट प्लान और होम इन्शुरन्स प्लान शामिल हैं। इस सहायक कंपनी के बढ़िया बनाए गए उत्पाद बहुत प्रभावी, पारदर्शी और मिलने में आसान हैं। आप जब भी कोई जनरल इन्शुरन्स उत्पाद खरीदने के बारे में सोचते हैं तो यह सबसे विचारयोग्य कंपनी है।

यहां, हम किसी भी व्यक्ति द्वारा सबसे ज़्यादा मांग वाली इन्शुरन्स पॉलिसी की चर्चा करेंगे जो है टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी। यह कहने में कोई शक नहीं है कि टू व्हीलर रखने वाला हर व्यक्ति जो सबसे ज़्यादा वाला प्लान खरीदेगा वह है टू व्हीलर इन्शुरन्स पालिसी। भारत में, टू व्हीलर इन्शुरन्स पालिसी होना अनिवार्य है और इसके बिना भारत की सड़कों पर गाडी चलाना ग़ैरक़ानूनी है।

नेशनल टू व्हीलर इन्शुरन्स की विशेषताएं और लाभ

  • व्यापक कवरेज देती है
  • क्लेम्स सेवा आसान और तेज़ है
  • परेशानिरहित क्लेम्स सहायता और कैशलेस सुविधा
  • वहन करने योग्य इन्शुरन्स प्लान
  • हर क्लेमरहित साल के लिए नो क्लेम बोनस

यह क्या कवर करती है

नेशनल इन्शुरन्स कंपनी के अंतर्गत टू व्हीलर इन्शुरन्स के लिए आप निम्नलिखित दो विकल्पों पर गौर कर सकते हैं

लायबिलिटी ओनली कवर: यदि इन्शुरन्स करवाए हुए व्यक्ति से कोई दुर्घटना हो जाती है तो इस तरह का टू व्हीलर इन्शुरन्स प्लान हर तरह की क़ानूनी ज़िम्मेदारियों पर पूरा कवर प्रदान करता है।

पैकेज प्लान: यह वहन करने योग्य कीमत पर व्यापक कवरेज देता है। इस इन्शुरन्स प्लान के अंतर्गत, मोटर व्हीकल्स एक्ट के मुताबिक सारी ज़िम्मेदारियाँ कवर की जाती हैं। वाहन और यात्री की वजह से होने वाले नुकसान कवरेज के अधीन होते हैं। इन्शुरन्स किए हुए वाहन के नुकसान में निम्नलिखित शामिल हैं:

संपत्ति को क्षति (थर्ड पार्टी की संपत्ति को नुकसान 7.5 लाख रुपये तक)

  • आतंकवादी कार्य  
  • थर्ड पार्टी को चोट या उसकी मृत्यु
  • डकैती, चोरी या सेंधमारी
  • दंगे और हड़ताल
  • प्राकृतिक आपदाएं (जैसे बाढ़, अंधड़, प्रचंड तूफ़ान, झंझावात, ओला वृष्टि, चक्रवात आदि)
  • आग और भूकंप
  • आग, खुद जलना, बिजली गिरना या विस्फोट
  • दुर्भावनापूर्ण कार्य

अपवाद

  • टूट-फूट
  • युद्ध के कार्य, गृहयुद्ध, सेना की शक्ति, विदेशी शत्रुओं के कार्य, आक्रमण, सैनिक विद्रोह इत्यादि से होने वाले नुकसान
  • मेकैनिकल या इलेक्ट्रिकल खराबी
  • बिना लाइसेंस के, अवैध लाइसेंस के साथ या शराब के नशे में वाहन चलाने वालों को कवरेज नहीं मिलेगी
  • परिणामी क्षति
  • अनुबंधित लायबिलिटी की वजह से होने वाला कोई भी क्लेम
  • टायर और ट्यूब को होने वाली क्षति कवर नहीं होगी जब तक कि वाहन भी उसी समय क्षतिग्रस्त ना हुआ हो. उस मामले में बदलने या ठीक करने की कीमत का 50% बीमाकर्ता द्वारा दिया जाएगा
  • यदि वाहन का प्रयोग बताए गए उद्देश्यों या सीमाओं से बाहर किया गया
  • जानबूझ कर की गई लापरवाही की वजह से हुआ नुकसान/क्षति या लायबिलिटी
  • किसी नाभिकीय शक्ति या नाभिकीय कचरे या रेडिओधर्मी सम्मिश्रण से आयनित करने वाली विकिरणों की वजह से होने वाला नुकसान या क्षति
  • यदि कोई अनाधिकृत व्यक्ति (ड्राइवर के खंड में बताए गए व्यक्ति के अलावा) इन्शुरन्स किए गए वाहन को चलाता है
  • नाभिकीय हथियारों की वजह से हुआ नुकसान/क्षति
  • चोरी की वजह से एक्सेसरीज को नुकसान/क्षति

क्लेम प्रक्रिया

जैसा कि ऊपर बताया गया है इस प्रसिद्ध इन्शुरन्स कमपनी की क्लेम प्रक्रिया आसान है और प्रभावी भी है। यह तेज़ और पारदर्शी भी है। आप जिस समय चाहें अपना क्लेम फ़ाइल कर सकते हैं। इस कंपनी की ग्राहक सेवा देश की सबसे बढ़िया ग्राहक सेवाओं में से एक है। इसके अंतर्गत आपको, तुरंत सहायता मिलती है जिससे ग्राहक की पूरी संतुष्टि सुनुश्चित होती है। आप अपने किसी भी प्रश्न का जवाब पाने के लिए उनसे बात कर सकते हैं। जब आप क्लेम फाइल करने के लिए बात करते हैं तो आप के पास कुछ सूचनाएं तैयार होनी चाहिए, जैसे कि:

  • दुर्घटना की तारीख और समय
  • जांच का स्थान (जहाँ नुकसान का आंकलन करने वाला वाहन की जांच कर सकता है)
  • पॉलिसी नंबर
  • ड्राइवर का नाम, संपर्क नंबर और ड्राइविंग लाइसेंस का विवरण
  • इन्शुरन्स किए गए व्यक्ति का संपर्क विवरण
  • नुकसान का अंदाज़ा और वर्णन

एक बार आप क्लेम फाइल कर देते हैं तो कंपनी का प्रतिनिधि आपको जल्दी ही फोन करेगा और क्लेम की प्रक्रिया आगे बढ़ाएगा। कंपनी के प्रतिनिधि से आपको एक क्लेम रिफरेन्स नंबर मिलेगा जो आपको भविष्य में होने वाली बातचीत के लिए अपने पास रखना होगा। एक बार आपकी क्लेम फाइल स्वीकृत हो जाती है तो आपको कंपनी की तरफ से लाभप्रद जानकारियों के साथ एक सन्देश मिलेगा। जांचकर्ता इन्शुरन्स किए हुए वाहन की जांच करता है। एक बार आंकलन हो जाने और स्वीकृति मिलने के बाद, क्लेम की स्थिति बता दी जाती है।

ज़रूरी दस्तावेज़

  • सही भरा हुआ क्लेम फॉर्म
  • फिटनेस सर्टिफिकेट (केवल वाणिज्यिक वाहनों के लिए)
  • रजिस्ट्रेशन का सर्टिफिकेट
  • पुलिस एफआईआर
  • ड्राइविंग लाइसेंस की प्रति
  • मोटर इन्शुरन्स पालिसी शेड्यूल और इंडोर्समेंट/क्लॉज़ के साथ
  • पालिसी और प्रीमियम भुगतान की रसीद की प्रति

नवीनीकरण प्रक्रिया

जब टू व्हीलर इन्शुरन्स की बात आती है, तो जो पंजीकृत पॉलिसीधारक हैं, वे आसानी से ऑनलाइन नवीनीकरण प्रक्रिया का फायदा उठा सकते हैं। यह आसान है और प्रभावी भी है। इसके लिए आपको सिर्फ तीन आसान कदम उठाने होंगे

- अपना पॉलिसी नंबर और जन्मतिथि भर के ऑनलाइन प्लेटफार्म पर लॉगइन करें

- भुगतान के विकल्प का चुनाव करें - नेट बैंकिंग, डेबिट या क्रेडिट कार्ड

- एक बार भुगतान सन्देश मिलने पर प्रीमियम भुगतान रसीद को प्रिंट/सेव कर लें