टू व्हीलर इन्शुरन्स
  • बाइक की क्षति से सुरक्षा
  • व्यक्तिगत दुर्घटना के खिलाफ कवरेज
  • 1,00,000 + संतुष्ट ग्राहक
PX step

प्रीमियम की तुलना करें

1

2

बाइक का नाम
बाइक के प्रकार
आरटीओ कोड
पंजीकरण की तारीख
जारी रखें

टू व्हीलर इंश्योरेंस प्लान जो किसी भी दुर्घटना, चोरी या प्राकृतिक आपदाओं के कारण बाइक या बाइक सवार को होने वाले नुकसान के खिलाफ कवरेज प्रदान करता है। यह बाइक और बाइक सवार को अप्रत्याशित देनदारियों से बचाने के लिए एक सुरक्षा कवर है जो कि दुर्घटना के कारण हो सकती है। यदि मोटर साइकल क्षतिग्रस्त हो जाती है तो टू व्हीलर इन्शुरन्स अवांछित खर्चों के खिलाफ लड़ने में सहायक के रूप में काम करता है।

IRDAI ने भारत में सभी दोपहिया वाहनों के लिए 5 साल की थर्ड पार्टी पॉलिसी होना अनिवार्य कर दिया है, ताकि वाहन खरीदने की अवधि से लेकर भारत में सड़कों पर वैध तरीके से वाहन चलाए जाएं।

टू व्हीलर इंशुरन्स क्यों जरूरी है?

भारतीय मोटर वाहन अधिनियम, 1988 के अनुसार, मोटर वाहनों के सभी मालिकों को वैध व्हीकल इन्शुरन्स पॉलिसी लेनी होगी। यदि आप भारत की सड़कों पर कानूनी रूप से गाड़ी चलाना चाहते हैं तो कम से कम थर्ड-पार्टी इन्शुरन्स मोटर इन्शुरन्स जरूरी है।

अनिवार्य विशेषताओं के अलावा, यह वित्तीय सुरक्षा के लिए भी महत्वपूर्ण है। यह बीमाकृत वाहन को नुकसान से बचाने, थर्ड पार्टी की संपत्ति और सवार, पैदल यात्री या सवार को शारीरिक चोट के लिए आवश्यक वित्तीय सहायता प्रदान करता है।

  1. आग, भूकंप, दुर्घटना, चोरी या किसी अन्य प्राकृतिक आपदा से वाहन को नुकसान या क्षति पॉलिसी के तहत कवर किया जाता है।
  2. थर्ड पार्टी इन्शुरन्स वह है जो कानूनी मुद्दों के खिलाफ सुरक्षा करता है जो किसी भी थर्ड पार्टी चोट, मौत या क्षति के कारण संपत्ति को नुकसान पहुंचा सकता है।

टू व्हीलर इंश्योरेंस पॉलिसी की विशेषताएं

  • कोई वित्तीय तनाव नहीं: असल में बाइक इन्शुरन्स प्लान आपके वाहन को आवश्यक वित्तीय कवरेज प्रदान करती है। जिसके परिणाम स्वरूप कोई वित्तीय तनाव नहीं रहता है।
  • कानूनी रूप से संरक्षित: भारत की सड़कों पर कानूनी रूप से गाड़ी चलाने के लिए टू व्हीलर इन्शुरन्स होना अनिवार्य है। यह आपको दंड का भुगतान करने से बचाएगी और आप कानूनी रूप से सुरक्षित रखेगी।
  • व्यक्तिगत दुर्घटना कवर: बीमा कंपनी 1 लाख रुपये तक दुर्घटना कवर प्रदान करती है, जो पॉलिसीधारक को स्थायी या अस्थायी अक्षमता होने या दुर्घटनाग्रस्त मौत के मामले में देय है।
  • मन की शांति: जैसा कि आप जानते हैं, एक वैध बीमा प्लान के साथ, आप अपने वाहन की आकस्मिक क्षति की मरम्मत खर्चों के खिलाफ वित्तीय रूप से सुरक्षा प्राप्त करेंगें जिससे आपका मन शांत रहेगा।

टू-व्हीलर इन्शुरन्स के प्रकार

कॉम्प्रेहेन्सिव टू व्हीलर इन्शुरन्स

कॉम्प्रेहेन्सिव (व्यापक) टू व्हीलर प्लान मूल रूप से एक ऐसी इन्शुरन्स पॉलिसी है जो बीमित व्यक्ति और थर्ड पार्टी की दायित्व के खिलाफ कवरेज प्रदान करती है। कॉम्प्रेहेन्सिव टू व्हीलर योजनाओं में अतिरिक्त सुविधाएँ और लाभ मिलता हैं जिनका पॉलिसीधारक अतिरिक्त कवर रूप में लाभ उठा सकता है।

कॉम्प्रेहेन्सिव टू व्हीलर प्लान्स के तहत निम्नलिखित शामिल हैं:

  • आग के कारण टू व्हीलर को नुकसान
  • प्राकृतिक आपदा या घटना के कारण टू व्हीलर को नुकसान
  • दंगों या हिंसा के कारण बाइक को नुकसान
  • आतंकवादी गतिविधियों के कारण बाइक को नुकसान
  • वाहन या वाहन के सामान की चोरी
  • ढुलाई या शिफ्ट के दौरान बाइक को नुकसान
  • सड़क के किनारे मरम्मत सहायता
  • टॉइंग सहायता
  • आवास कवर और सहायता
  • वैकल्पिक परिवहन व्यवस्था कवर
  • आंतरिक और दूरस्थ क्षेत्र कवर
  • कानूनी सहायता और कवर

थर्ड पार्टी टू व्हीलर इन्शुरन्स

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स प्लान मोटर वाहन अधिनियम की शर्तों और दिशानिर्देशों के अनुसार सभी वाहनों के लिए अनिवार्य है। इससे कई प्रकार के लाभ प्राप्त होते है यह न केवल आपकी सुरक्षा करता है साथ दूसरे व्यक्ति को मुआवज़ा दिलाने में भी सहायता प्रदान करता है। 

थर्ड पार्टी लायबिलिटी टू व्हीलर इंश्योरेंस में शामिल कवर:

  • थर्ड पार्टी मौत कवर
  • थर्ड पार्टी दुर्घटना कवर
  • थर्ड पार्टी कुल / आंशिक / अस्थायी / स्थायी अक्षमता कवर
  • थर्ड पार्टी की संपत्ति क्षति कवर

2020 में बीमा कंपनी के बेस्ट टू व्हीलर इन्शुरन्स प्लान

कंपनी

थर्ड पार्टी कवर

एड-ऑन कवर

प्रमुख विशेषताऐं

सीमाएं

बजाज एलियांज टू व्हीलर इन्शुरन्स

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

उपलब्ध नहीं है

1. पॉलिसी के नवीनीकरण या पॉलिसी ट्रांसफर के लिए कोई निरीक्षण या दस्तावेज आवश्यक नहीं है

2. जल्दी पॉलिसी जारी करना 

3. सरल दावा निपटान

15 साल तक के वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

भारती एक्सा टू व्हीलर इन्शुरन्स

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

उपलब्ध नहीं है

1. पॉलिसी के नवीनीकरण या पॉलिसी ट्रांसफर के लिए कोई निरीक्षण या दस्तावेज आवश्यक नहीं है

2. जल्दी पॉलिसी जारी करना

3. आसान दावा निपटान

10 साल तक वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

एचडीएफसी एर्गो टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

ज़ीरो डेप्रिसिएशन

1. पॉलिसी के नवीकरण या मालिक हस्तांतरण के लिए दस्तावेज आवश्यक है

2. जल्दी पॉलिसी जारी करना

3. व्यापक बीमा कवर

15 साल तक के वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

इफको टोकियो टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

उपलब्ध नहीं है

1. जल्दी पॉलिसी जारी करना

2. व्यापक बीमा कवर

10 साल तक वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

न्यू इंडिया अश्युरेंस टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

ज़ीरो डेप्रिसिएशन

1. जल्दी पॉलिसी जारी करना

2. आसान दावा निपटान

10 साल तक वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

रिलायंस टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

उपलब्ध नहीं है

1. जल्दी पॉलिसी जारी करना

2. आसान दावा निपटान

10 साल तक वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

यूनिवर्सल सोम्पो टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

ज़ीरो डेप्रिसिएशन

1. जल्दी पॉलिसी जारी करना

2. आसान दावा निपटान

10 साल तक वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

Table Data updated on 15-05-2020

टू व्हीलर इन्शुरन्स के लाभ

यह सच है कि हाल के वर्षों में, टू व्हीलर इन्शुरन्स उद्योग में काफी बदलाव आया है। आजकल, बीमा कंपनियां कई अलग-अलग विकल्पों के साथ आ गई हैं जो आपकी आवश्यकताओं के अनुसार सबसे अच्छा विकल्प चुनने में आसानी से आपकी मदद कर सकती हैं। आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं। बाइक इन्शुरन्स प्लान से मिलने वाले कुछ लाभ है:-

  1. कॉम्प्रेहेन्सिव और थर्ड पार्टी टू व्हीलर कवरेज
  2. वैकल्पिक कवर
  3. संपत्ति क्षति और भौतिक कवर
  4. छूट
  5. एनसीबी - नो क्लेम बोनस

आइए विस्तार से उपरोक्त लाभों पर चर्चा करें

कॉम्प्रेहेन्सिव (व्यापक) और लायबिलिटी कवरेज: टू व्हीलर इन्शुरन्स में आप अपनी आवश्यकताओं के अनुसार उचित बीमा पॉलिसी चुन सकते है। हमेशा कॉम्प्रेहेन्सिव बीमा प्लान चुनने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह आपको अपनी बाइक और थर्ड पार्टी की देयता दोनों के लिए कवरेज प्रदान करता है। जबकि थर्ड पार्टी इन्शुरन्स पॉलिसी के तहत, ग्राहकों को केवल थर्ड-पार्टी दायित्व के खिलाफ कवरेज मिलेगा।

वैकल्पिक कवर: इस विकल्प के तहत बहुत से कवर आते हैं जैसे व्यक्तिगत दुर्घटना कवर, ज़ीरो डेप कवर इत्यादि। थोड़ी अतिरिक्त राशि का भुगतान करके आप आसानी से कई अतिरिक्त राइडर ले सकते हैं जो अतिरिक्त लेकिन प्रभावी कवरेज प्रदान करेंगे।

नो-क्लेम बोनस (एनसीबी): नो-क्लेम बोनस पॉलिसी नवीकरण के समय प्रीमियम से कटौती की गई राशि का प्रतिशत है जो पिछले पॉलिसी कार्यकाल के दौरान कोई दावा नहीं किए जाने के कारण है। बाइक इन्शुरन्स प्लान्स के साथ आपको प्रत्येक दावाहीन वर्ष के लिए मुफ्त एनसीबी मिलेगा जो प्रीमियम राशि को कम करने में आपकी मदद करेगा। यदि टू व्हीलर पॉलिसी को किसी अन्य बीमाकर्ता को ट्रांसफर करने की आवश्यकता है तो लागू नो-क्लेम बोनस को भी आसानी से स्थानांतरित किया जा सकता है।

छूट: बीमा कंपनियां टू व्हीलर पॉलिसी के प्रीमियम पर छूट की पेशकश करती हैं। यह छूट दो साल से अधिक लंबी अवधि की पॉलिसी के लिए दी जा सकती है। बाइक पर स्थापित सुरक्षा उपकरणों व सुविधाओं और ग्रूप टू व्हीलर प्लान के लिए भी छूट दी जा सकती है।

संपत्ति क्षति और भौतिक कवर: यह मानव निर्मित और प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाली क्षति के खिलाफ कवरेज प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी का प्रीमियम किन कारकों पर निर्भर है?

  1. बाइक बीमाकृत घोषित मूल्य (आईडीवी): आईडीवी वास्तव में वाहन मालिक के लिए वाहन का वर्तमान मूल्य होता है। यह वह राशि है जो वाहन मलिक वाहन चोरी या बाइक के नुकसान के खिलाफ दावा कर सकता है। उच्च आईडीवी के लिए उच्च प्रीमियम का भुगतान करना होता है।
  2. डेप्रिसिएशन: यह एक मुख्य कारक है जिससे बाइक इन्शुरन्स प्रीमियम प्रभावित होता है। बाइक जितनी पुरानी होगी डेप्रिसिएशन उतना ही ज्यादा होगा और प्रीमियम कम होगा। नई बाइकों का कोई डेप्रिसिएशन राशि नहीं होती है।
  3. बाइक मूल्य: ज़्यादा महँगी बाइक के लिए ज़्यादा इन्शुरन्स प्रीमियम होता हैं।
  4. एनसीबी: यह नवीनीकरण के मामले में है। एनसीबी को प्रीमियम राशि से कटौती की जाती है, और प्रीमियम कम हो जाता है।
  5. छूट लागू: उच्च सुरक्षा और चोरी से बचाव के उपकरणों की स्थापना पर प्रीमियम से कटौती की जाती है और प्रीमियम कम हो जाता है।
  6. भौगोलिक स्थिति: भौगोलिक स्थिति भी बाइक इन्शुरन्स प्रीमियम को बहुत प्रभावित करती है। किसी पहाड़ी क्षेत्र का प्रीमियम किसी समतल क्षेत्र से हमेशा अधिक होगा।

कुछ टू व्हीलर इंश्योरेंस कंपनी का प्रीमियम

बीमा कंपनियां

आईडीवी

आवरण

प्रीमियम (कर रहित)

ओरिएंटल इन्शुरन्स कंपनी

64,600 रुपये

बंडल कवर (1 साल का नुकसान + 5 वर्ष टीपी)

3,726 रुपये

यूनाइटेड इंडिया इन्शुरन्स

64,600 रुपये

बंडल कवर (1 साल का नुकसान + 5 वर्ष टीपी)

4,001 रुपये

न्यू इंडिया एश्योरेंस

54,360 रुपये

बंडल कवर (1 साल का नुकसान + 5 वर्ष टीपी)

3,517 रुपये

एचडीएफसी ईआरजीओ

63,021 रुपये

बंडल कवर (1 साल का नुकसान + 5 वर्ष टीपी)

4,577 रुपये

बजाज एलियांज इन्शुरन्स कंपनी

68, 314 रुपये

बंडल कवर (1 साल का नुकसान + 5 वर्ष टीपी)

4,430 रुपये

Table Data updated on 15-05-2020

(नई बजाज पलसर डीटीएसआई-इलेक्ट्रिक स्टार्ट, डीअल 7एस नई दिल्ली (आरटीओ))

टू व्हीलर बीमाकर्ता और इन्शुरन्स प्लान का चयन कैसे करें?

इतनी सारे इन्शुरन्स प्लान्स और बीमा कंपनियों के साथ, बीमाकर्ता और इन्शुरन्स प्लान चुनना वास्तव में काफी मुश्किल हो जाता है। हमेशा एक ऐसी पॉलिसी चुनें जो आपके लिए सबसे उपयुक्त हो। उदाहरण के लिए, शीर्ष रैंकिंग इन्शुरन्स कंपनी महानगरों में अच्छी इन्शुरन्स सेवाएं प्रदान कर सकती है लेकिन आपके क्षेत्र में उनकी उपस्थिति सीमित हो सकती है। 

अपनी जरूरतों के अनुसार पॉलिसी चुनने के लिए आपको सभी टॉप इन्शुरन्स कंपनियों के प्लान चेक करने होंगे जिसमें आपको काफी समय भी लग सकता है। लेकिन यहाँ पॉलिसीएक्स.कॉम पर आप इन सभी कंपनियों के प्लान एक साथ चेक कर सकते है और कम्पेयर भी कर सकते है।

PolicyX.com एक ऐसा ग्राहक पोर्टल है जहां बाइक मालिक टू व्हीलर इंश्योरेंस प्लान के मूल्य और विशेषताएँ कम्पेयर कर सकते है और खरीद भी सकते है। यह आपको इन्शुरन्स कैलकुलेटर प्रदान करता है, जिसमें आप कुछ बुनियादी विवरण दर्ज करके अपने बीमा उद्धरण को बहुत जल्दी प्राप्त कर सकते हैं।

अपनी टू व्हीलर पॉलिसी को अंतिम रूप देने के दौरान निम्नलिखित सुनिश्चित करें:

  1. इन्शुरन्स कंपनी आईआरडीए अधिकृत होनी चाहिए।
  2. इन्शुरन्स कंपनी के पास पारदर्शी रिकॉर्ड होना चाहिए।
  3. इन्शुरन्स कंपनी की वित्तीय सुदृढ़ता और क्षमता को जांचना जरुरी है।
  4. टू व्हीलर इन्शुरन्स में कंपनी की क्षमता और पिछला प्रदर्शन।
  5. इन्शुरन्स कंपनी द्वारा प्रदान की गई ग्राहक सहायता।
  6. इन्शुरन्स कंपनी का दावा निपटान अनुपात और दावा प्रक्रिया।
  7. इन्शुरन्स प्लान में आपकी बुनियादी और विशिष्ट आवश्यकताओं को पूरा करने की क्षमता होनी चाहिए।

भारत में शीर्ष टू व्हीलर इंश्योरेंस कंपनियां

भारत में कई टॉप जनरल इंश्योरेंस कंपनियां कॉम्प्रेहेन्सिव और लायबिलिटी बाइक इंश्योरेंस प्लान प्रदान कर रही हैं। निम्नलिखित कंपनियों ने बाइक इंश्योरेंस में अच्छी प्रतिष्ठा हासिल की है:

बीमा कंपनी का नाम

थर्ड पार्टी कवर

नेटवर्क गैरेज

व्यक्तिगत कवर (दुर्घटनाग्रस्त)

दावा निपटान अनुपात

पॉलिसी की समय अवधि

नो-क्लेम बोनस

भारती एक्सा जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

4000+

1 लाख रुपये

75 %

1 साल

उपलब्ध

बजाज एलियांज जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

4800+

1 लाख रुपये

62%

1 साल

उपलब्ध

इफको टोकियो जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

4300+

1 लाख रुपये

87 %

1 साल

उपलब्ध

यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

5400+

1 लाख रुपये

88 %

1 साल

उपलब्ध

रिलायंस जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

4450+

1 लाख रुपये

85 %

1 साल

उपलब्ध

न्यू इंडिया एश्योरेंस

उपलब्ध

1150+

1 लाख रुपये

87.54 %

1 साल

उपलब्ध

रॉयल सुंदरम जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

3300+

1 लाख रुपये

89 %

1 साल

उपलब्ध

एचडीएफसी एर्गो जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

6800+

1 लाख रुपये

82 %

1 साल

उपलब्ध

Table Data updated on 15-05-2020

टू व्हीलर इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने के लिए आवश्यक दस्तावेज

नई बीमा खरीद: टू व्हीलर खरीद के लिए कम दस्तावेज की आवश्यकता होती है। बस आवेदन पत्र भरें और अपनी बाइक की पंजीकरण प्रति संलग्न करें

  • पुराने बीमा पत्रों की प्रति।
  • आपकी टू-व्हीलर पॉलिसी की कॉपी।
  • अपने बाइक पंजीकरण प्रमाण पत्र की प्रति।
  • ड्राइविंग लाइसेंस कॉपी
  • थाने में दर्ज प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर)।
  • मेडिकल बिल (व्यक्तिगत दुर्घटना कवर दावे के लिए)।
  • बाइक मरम्मत बिल (गैर-नेटवर्क गैरेज में बाइक की मरम्मत के लिए)।

टू व्हीलर कवरेज के लिए आवेदन कैसे करें?

आप भारत में टू व्हीलर कवरेज के लिए ऑनलाइन या ऑफ़लाइन आवेदन कर सकते हैं। जब आप कवरेज समय अवधि चुनते हैं तो आपको अपने प्रीमियम का मूल्य प्राप्त होगा। जानते है आवेदन करने की प्रक्रिया:-

बाइक इंश्योरेंस ऑफ़लाइन

यदि आप टू व्हीलर इन्शुरन्स के लिए ऑफ़लाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो आपको एक बीमा एजेंट या बीमा मार्केटिंग सलाहकार से मिलकर इन्शुरन्स के बारे में जानकारी प्राप्त करने पड़ेगी। आमतौर पर ऑफ़लाइन पॉलिसी ख़रीददारी थोड़ी महँगी होती है क्योंकि इसमें आप एजेंट को अपने प्रीमियम का एक निश्चित प्रतिशत भुगतान करते है। नतीजतन, जब आप ऑफलाइन पॉलिसी देखते हैं तो आपकी दरें अधिक हो सकती हैं। आप ऑफलाइन बाइक इन्शुरन्स कहाँ कहाँ से खरीद सकते है :-

  • बीमाकर्ता के कार्यालय/विभाग से
  • कवरेज एजेंट के माध्यम से
  • एक वित्तीय संस्थान या थर्ड-पार्टी के माध्यम से

बाइक इंश्योरेंस ऑनलाइन

यदि आप ऑनलाइन बाइक इंश्योरेंस के लिए आवेदन कर रहे हैं, तो आप कंपनी की वेबसाइट पर जा सकते हैं जिसे आप अपने बीमाकर्ता के रूप में चुनते हैं। आप तुरंत उच्च बीमाकर्ताओं से उद्धरण प्राप्त करके प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं। 

अपने बीमाकर्ता का निर्णय लेने से पहले, आप प्रीमियम कैलक्यूलेटर का उपयोग करके प्रीमियम के बारे में एक विचार प्राप्त कर सकते हैं जिसका आप भुगतान करेंगे। आपको अपने टू व्हीलर पंजीकरण संख्या, फोन नंबर और संबंधित क्षेत्र और ईमेल को दर्ज करने की आवश्यकता हो सकती है। फिर आप ऑनलाइन खरीदने के लिए क्लिक कर सकते हैं।

ऑनलाइन टू व्हीलर इंश्योरेंस पॉलिसी का नवीनीकरण कैसे करें?

भारतीय कानून के अनुसार सड़कों पर वाहन चलाने के लिए बीमा दस्तावेज आवश्यक हैं अन्यथा आपको उच्च दंड का भुगतान करना पड़ सकता है। जो टू व्हीलर का मालिक है, उन्हें पालिसी की समय सीमा समाप्त होने पर पॉलिसी रिन्यू करना जरुरी है। एक बार पॉलिसी लैप्स हो जाने के बाद, टू व्हीलर मालिक ग्रेस पीरियड में रिन्यू करवा सकते है। यदि अनुग्रह अवधि समाप्त हो जाती है, तो आपको पॉलिसीएक्स.कॉम के साथ ऑनलाइन नवीनीकरण प्रक्रिया की जांच कर सकते है और बाइक इन्शुरन्स पालिसी को रीन्यू करवा सकते है।

पॉलिसी को नवीनीकृत करने के लिए कोई व्यक्ति हमारे 'उद्धरण अनुभाग' पर जा सकता है जो इस पृष्ठ के निचले-दाईं ओर मौजूद है। हम आपको पूरी प्रक्रिया में मार्गदर्शन करेंगे और यह काफी सरल और परेशानी से मुक्त है।

  • उद्धरण अनुभाग पर जाएँ, जो इस पृष्ठ का शीर्ष है और आवश्यक विवरण भरें।
  • उद्धरणों की तुलना करें और अपनी आवश्यकताओं के अनुसार योजना का चयन करें।
  • भुगतान के विभिन्न तरीकों का उपयोग करके भुगतान करें, जैसे नेट बैंकिंग, डेबिट / क्रेडिट कार्ड, आदि।
  • कभी भी आप हमारी ग्राहक सहायता टीम से This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. पर ईमेल करके सहायता मांग सकते हैं या आप 1800 4200 269 पर भी कॉल कर सकते हैं।

टू व्हीलर इंश्योरेंस रिन्यूवल चेकलिस्ट

व्यापक कवरेज: टू व्हीलर चलाने वालों को व्यापक कवरेज योजना को ही ख़रीदना चाहिए क्योंकि इसमें थर्ड पार्टी कवरेज भी शामिल है।

बीमित घोषित मूल्य (IDV): आकस्मिक और चोरी के नुकसान की प्रतिपूर्ति। आईडीवी पॉलिसी के लिए प्रीमियम के प्रति सर्वोत्तम मूल्य का मूल्यांकन करने में मदद करता है।

दावा सूचना: दावा निपटान अनुपात (CSR) बीमा कंपनी को परिभाषित करने और चुनने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

नेटवर्क गैरेज: उन सभी नेटवर्क गैरेज को चेक करें जो आपके क्षेत्र में बाइक की मरम्मत के लिए कैशलेस सेवाएं प्रदान करते हैं।

अतिरिक्त लाभ: सभी लाभों के माध्यम को सुनिश्चित करें और उपलब्ध ऐड-ऑन लाभों को देखना न भूलें और अपनी बाइक के लिए सबसे अच्छी योजना चुनें।

कटौती और छूट: कटौती का ध्यानपूर्वक निरीक्षण करें और अपनी चयनित योजना का लाभ उठाने के लिए उपलब्ध छूट भी।

टू व्हीलर बीमा के लिए दावा प्रक्रिया

टू व्हीलर इन्शुरन्स कंपनियां परेशानी मुक्त और सहज दावा निपटान प्रक्रिया प्रदान करती हैं। दावा निपटान प्रक्रिया इंश्योरेंस के प्रकार के अनुसार अलग-अलग होता है। यदि आप किसी थर्ड-पार्टी या वाहन से जुड़े किसी दुर्घटना का सामना किया हैं, तो आप निम्न प्रक्रिया से इसके लिए दावा दर्ज कर सकते हैं:

  1. एफआईआर दर्ज करें: पुलिस को दुर्घटनाओं और चोरी की सूचना दी जानी चाहिए। निकटतम पुलिस स्टेशन पर जाएं और एफआईआर दर्ज करें और एफआईआर की एक प्रति रखें।
  2. तुरंत अपने बीमाकर्ता से संपर्क करें: यदि आप पॉलिसीधारक हैं तो अपने बीमाकर्ता को टू व्हीलर पेपर पर दी गई हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करें और अपने पॉलिसी नंबर, दिनांक और समय और बाइक की क्षति का ब्योरा दें। यदि आप ड्राइवर हैं और पॉलिसीधारक नहीं हैं तो बाइक के मालिक से संपर्क करें।
  3. बीमाकर्ता के निर्देशों का पालन करें: आपको दुर्घटना स्थल पर एक निरीक्षण अधिकारी सौंपा जा सकता है। यदि निरीक्षण अधिकारी नहीं सौंपा गया है तो वाहन की मरम्मत के लिए जाएँ।
  4. नेटवर्किंग गैराज में बाइक की मरम्मत: यदि आपकी पॉलिसी में विशेषता उपलब्ध हैं तो आप साइट पर नेटवर्क गेराज कर्मचारियों को कॉल कर सकते हैं या अपने बीमाकर्ता से टॉइंग सहायता ले सकते हैं। आप अपने बाइक को अपने निकटतम नेटवर्क वाले गेराज में भी डाल सकते हैं।
  5. नकद रहित दावे उठाएं: नेटवर्क गेराज में, आप अपने वाहन की मरम्मत के लिए नकद रहित दावा ले सकते हैं। जैसे आपकी पॉलिसी में उल्लिखित है वैसे नकद रहित दावे की प्रक्रिया का पालन करें।
  6. नोन-नेटवर्क वाले गेराज में बाइक की मरम्मत: नेटवर्क गेराज तक पहुंचने में कई बार संभव नहीं हो सकता है। उस स्थिति में गैर-नेटवर्क वाले गेराज या मरम्मत केंद्र से मरम्मत बिल प्राप्त करें और आपकी पॉलिसी में उल्लिखित गैर-नेटवर्क गेराज मरम्मत के लिए दावे निपटारे की प्रक्रिया का पालन करें।
  7. दावे की प्रक्रिया के लिए आवश्यक दस्तावेज: आप चाहे नकद रहित या पोस्ट-पेमेंट दावा जमा करें, आपको जमा करने के लिए अपने बीमाकर्ता को निम्नलिखित दस्तावेज जमा करना होगा
    1. टू व्हीलर पॉलिसी की कॉपी
    2. अपने बाइक पंजीकरण प्रमाण पत्र की कॉपी
    3. आपकी या चालक की ड्राइविंग लाइसेंस कॉपी
    4. एफ.आई.आर की प्रति
    5. चिकित्सा बिल (व्यक्तिगत दुर्घटना कवर दावा के लिए)
    6. बाइक मरम्मत बिल (गैर-नेटवर्क वाले गेराज में बाइक की मरम्मत के लिए)

बाइक इंश्योरेंस के लिए अकसर पूछे जाने वाले सवाल

प्रशन 1. आयु और व्यावसायिक छूट प्राप्त करने के लिए कौन से दस्तावेज आवश्यक हैं?

उतर: आयु लाभ या व्यावसायिक छूट प्राप्त करने के लिए आपको जाँच प्रक्रिया के लिए आपका पैन कार्ड और रोजगार या शिक्षा प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा।

प्रशन 2. क्या मौजूदा बीमा पॉलिसी में एक नए वाहन का बदलना संभव है?

उतर: हां, वर्तमान बीमा योजना में नए वाहन को बदलने की सुविधा उपलब्ध है। अधिक विवरण जानने के लिए आपको बीमा कंपनी को कॉल करना होगा।

प्रशन 3. बीमा के कार्यकाल के दौरान पॉलिसी को कैसे रद्द किया जा सकता है?

उतर: पॉलिसी को रद्द करना बीमा की एक प्रति प्रस्तुत करने पर किया जा सकता है जो किसी अन्य कंपनी द्वारा किया जाता है। एक अन्य मामले में, आपको उस वाहन का रद्दीकरण प्रमाण पत्र दिखाना होगा जो क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) द्वारा जारी किया जाता है। एक बार रद्द करने के बाद, शेष राशि वापस कर दी जाएगी। राशि में कवरेज के प्रीमियम की तरह कटौती शामिल होगी। यदि पॉलिसी के कार्यकाल के तहत कोई दावा नहीं है तो रिफंड दिया जाता है।

प्रशन 4. व्यापक नीति की क्या आवश्यकता है जब कानून द्वारा केवल थर्ड-पार्टी बीमा पॉलिसी खरीदने के लिए आदेश दिया जाता है, मृत्यु या चोट की हानि दी जाती है?

उतर: कानून के अनुसार थर्ड-पार्टी बीमा पॉलिसी खरीदना अनिवार्य है लेकिन यह एक सुझाव है कि व्यापक नीति लाई जानी चाहिए। यह आपके वाहन को प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं से सुरक्षा के लिए है। यदि आप व्यापक पॉलिसी खरीदते हैं तो आप अपने वाहन से होने वाले नुकसान का दावा कर सकते हैं। कोई व्यापक कवर नहीं होने की स्थिति में, वाहन मालिक द्वारा पूरी राशि दी जाएगी। इसके लिए कंपनी की कोई ज़िम्मेदारी नहीं है। इस प्रकार, व्यापक नीति का चयन करके, आप तनाव मुक्त रह सकते हैं क्योंकि आपकी वाहन कंपनी को जो भी नुकसान उठाना पड़ सकता है, वह वित्तीय बोझ है।

प्रशन 5. बीमा पॉलिसी ऑनलाइन प्राप्त करने के लिए क्या प्रक्रिया है?

उतर: बीमा पॉलिसी प्राप्त करने के लिए आवश्यक दस्तावेज का कोई सेट नहीं है। बीमा पॉलिसी खरीदने और नवीनीकरण के लिए आपको पिछली नीति और पंजीकरण प्रमाण पत्र की जानकारी जाँच के समय का उल्लेख करना होगा।

प्रशन 6. क्या एनसीबी एक्सपायरी पॉलिसी के लिए उपलब्ध है?

उतर: यह विकल्प उपलब्ध है यदि आप समाप्ति की तारीख से 90 दिनों की अवधि के भीतर पॉलिसी को नवीनीकृत करते हैं।

प्रशन 7. क्या होगा अगर इन्शुरन्स पॉलिसी गुम हो जाती है?

उतर: यदि आप इन्शुरन्स पॉलिसी की एक प्रति खो देते हैं, तब आपको बाइक इन्शुरन्स कंपनी से संपर्क करना होगा, और वे आपको एक डुप्लिकेट इन्शुरन्स पॉलिसी जारी करेंगे। इस के लिए आपसे मामूली शुल्क लिया जा सकता है। जो लोग इसे ऑनलाइन चाहते हैं, उनके लिए पॉलिसी की सॉफ्ट कॉपी ग्राहक के ईमेल पते पर भेजी जाती है। आप हार्ड कॉपी के रूप में वहां से प्रिंटआउट ले सकते हैं।

प्रशन 8. नो क्लेम बोनस (NCB) क्या है?

उतर: यह ग्राहक को जारी किया गया बोनस है क्योंकि पॉलिसीधारक ने पॉलिसी अवधि के दौरान कोई दावा नहीं किया है।

प्रशन 9. वाहन का निरीक्षण कब किया जाता है?

उतर: जो नीति ऑनलाइन ली गई है, उसके लिए कोई निरीक्षण नहीं है। यदि पॉलिसी किसी इन्शुरन्स शाखा से ख़रीदी गयी है तब निरीक्षण किया जाता है।

प्रशन 10. पॉलिसी के कार्यकाल के बारे में क्या?

उतर: बाजार में मौजूद अधिकांश बीमा पॉलिसियां एक वर्ष की अवधि के लिए होती हैं। लेकिन IRDA ने कंपनियों को टू व्हीलर नीतियों को एक बड़ी अवधि के लिए लॉन्च करने की अनुमति दी है जो 3 से 5 साल के लिए है। न्यू इंडिया इंश्योरेंस ने 3 साल के कार्यकाल के लिए पॉलिसी लॉन्च की है। यह पॉलिसीधारक के लिए फायदेमंद है क्योंकि वे पैसे बचा सकते हैं।

प्रशन 11. टू व्हीलर इंश्योरेंस में एंडोर्समेंट क्या है

उतर: टू व्हीलर इंश्योरेंस के लिए, एंडोर्समेंट शब्द एक एग्रीमेंट है, जो एक या एक से अधिक परिवर्तनों का लिखित प्रमाण है, जो पॉलिसी अवधि पर सहमत होते हैं। पॉलिसी दस्तावेज़ में परिवर्तन के वैध प्रमाण के रूप में कार्य करता है। दो प्रकार के एंडोर्समेंट हैं जो प्रीमियम बेयरिंग और नॉन-प्रीमियम बेयरिंग हैं।

प्रशन 12. यदि दोपहिया वाहन खो जाए या चोरी हो जाए तो क्या किया जा सकता है?

उतर: चोरी के मामलों के लिए, आपको निकटतम पुलिस स्टेशन में पहले एफ़आईआर दर्ज करवानी होगी। दावे के लिए एफ़आईआर की कॉपी के साथ कुछ दस्तावेज़ जमा करने होते हैं।

प्रशन 13. टू व्हीलर इंश्योरेंस प्रीमियम कब प्रभावित होता है?

उतर: पॉलिसी के लिए देय प्रीमियम बाइक की आयु और कई अन्य कारकों के अधीन है। टू व्हीलर की IDV (इंश्योर्ड डिक्लेयरड वैल्यू) उसकी बढ़ती उम्र के साथ गिरती है और उसी के अनुसार प्रीमियम देय होता है।

प्रशन 14. बाइक बीमा के साथ व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा कवर है?

उतर: आपकी टू-व्हीलर पॉलिसी के साथ 1 लाख रूपए राशि का व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा कवर दिया जाता है। व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा कवर पानेके लिए आपके पास 'व्यापक कवरेज योजना' होना चाहिए।