टू व्हीलर इन्शुरन्स
  • बाइक की क्षति से सुरक्षा
  • व्यक्तिगत दुर्घटना के खिलाफ कवरेज
  • 1,00,000 + संतुष्ट ग्राहक
PX step

प्रीमियम की तुलना करें

1

2

टू व्हीलर का नाम
टू व्हीलर के प्रकार
आरटीओ कोड
पंजीकरण की तारीख
जारी रखें

एक इन्शुरन्स प्लान जो किसी भी दुर्घटना, चोरी या प्राकृतिक आपदाओं के कारण बाइक या बाइक सवार को होने वाले नुकसान के खिलाफ कवरेज प्रदान करता है। यह बाइक और बाइक सवार को अप्रत्याशित देनदारियों से बचाने के लिए एक सुरक्षा कवर है जो कि दुर्घटना के कारण हो सकती है। यदि मोटर साइकल क्षतिग्रस्त हो जाती है तो टू व्हीलर इन्शुरन्स अवांछित खर्चों के खिलाफ लड़ने में सहायक के रूप में काम करता है।

टू व्हीलर इन्शुरन्स क्यों जरूरी है?

भारतीय मोटर वाहन अधिनियम, 1988 के अनुसार, मोटर वाहनों के सभी मालिकों को वैध व्हीकल इन्शुरन्स पॉलिसी लेनी होगी। यदि आप भारत की सड़कों पर कानूनी रूप से ड्राइव करना चाहते हैं तो कम से कम थर्ड-पार्टी लायबिलिटी मोटर इन्शुरन्स प्लान अनिवार्य है।

अनिवार्य विशेषताओं के अलावा, यह वित्तीय सुरक्षा के लिए भी महत्वपूर्ण है। यह बीमाकृत वाहन को क्षतिपूर्ति, थर्ड पार्टी की संपत्ति और सवार, पैदल यात्री या सवार को शारीरिक चोट के लिए आवश्यक वित्तीय सहायता प्रदान कर सकता है।

  1. आग, भूकंप या किसी अन्य प्राकृतिक आपदा से वाहन को नुकसान या क्षति पॉलिसी के तहत कवर किया जाता है।
  2. वाहन, दुर्घटना, चोरी या किसी अन्य कृत्रिम कारणों से हुए नुकसान या क्षति को पॉलिसी द्वारा कवर किया जाता है।
  3. थर्ड पार्टी लायबिलिटी वह है जो कानूनी मुद्दों के खिलाफ सुरक्षा करता है जो किसी भी थर्ड पार्टी चोट, मौत या क्षति के कारण संपत्ति को नुकसान पहुंचा सकता है।

"टू व्हीलर इन्शुरन्स अनिवार्य होने के साथ दुर्धटना के समय

होने वाले वित्तीय नुकसान से भी बचाता है"

टू व्हीलर इंश्योरेंस पॉलिसी की विशेषताएं

  • कोई वित्तीय तनाव नहीं: असल में बाइक इन्शुरन्स प्लान आपके वाहन को आवश्यक वित्तीय कवरेज प्रदान करती है। जिसके परिणाम स्वरूप कोई वित्तीय तनाव नहीं रहता है।
  • कानूनी रूप से संरक्षित: भारत की सड़कों पर कानूनी रूप से ड्राइव करने के लिए टू व्हीलर इन्शुरन्स होना अनिवार्य है। यह आपको दंड का भुगतान करने से बचाएगी और आप कानूनी रूप से सुरक्षित रहेंगे।
  • व्यक्तिगत दुर्घटना कवर: बीमा कंपनी 1 लाख रुपये तक दुर्घटना कवर प्रदान करती है, जो पॉलिसीधारक को स्थायी या अस्थायी अक्षमता होने या दुर्घटनाग्रस्त मौत के मामले में देय है।
  • मन की शांति: जैसा कि आप जानते हैं, एक वैध बीमा प्लान के साथ, आप अपने वाहन की आकस्मिक क्षति की मरम्मत खर्चों के खिलाफ वित्तीय रूप से सुरक्षा प्राप्त करेंगें जिससे आपका मन शांत रहेगा।

टू-व्हीलर इन्शुरन्स के प्रकार

कॉम्प्रेहेन्सिव टू व्हीलर इन्शुरन्स

कॉम्प्रेहेन्सिव (व्यापक) टू व्हीलर प्लान मूल रूप से एक ऐसी इन्शुरन्स पॉलिसी है जो बीमित व्यक्ति और थर्ड पार्टी की देयता के खिलाफ कवरेज प्रदान करती है। कॉम्प्रेहेन्सिव टू व्हीलर योजनाओं में अतिरिक्त सुविधाएं और लाभ हो सकते हैं जिनका पॉलिसीधारक अतिरिक्त कवर रूप में लाभ उठा सकता है।

कॉम्प्रेहेन्सिव टू व्हीलर प्लान्स के तहत निम्नलिखित शामिल हैं:

  • आग के कारण टू व्हीलर को नुकसान
  • प्राकृतिक आपदा या घटना के कारण टू व्हीलर को नुकसान
  • दंगों या हिंसा के कारण बाइक को नुकसान
  • आतंकवादी गतिविधियों के कारण बाइक को नुकसान
  • वाहन या वाहन के सामान की चोरी
  • ढुलाई या शिफ्ट के दौरान बाइक को नुकसान

कॉम्प्रेहेन्सिव टू व्हीलर प्लान के तहत अतिरिक्त कवर:

ये वैकल्पिक कवर हैं। बीमा कंपनियां अपने पॉलिसीधारकों को विभिन्न प्रकार के वैकल्पिक कवर और सहायता प्रदान कर रही हैं, जो इनमें निम्न शामिल हो सकते हैं:

  1. सड़क के किनारे मरम्मत सहायता
  2. टॉइंग सहायता
  3. आवास कवर और सहायता
  4. वैकल्पिक परिवहन व्यवस्था कवर
  5. आंतरिक और दूरस्थ क्षेत्र कवर
  6. कानूनी सहायता और कवर

थर्ड पार्टी लायबिलिटी टू व्हीलर इन्शुरन्स प्लान

थर्ड पार्टी लायबिलिटी टू व्हीलर इन्शुरन्स प्लान मोटर वाहन अधिनियम की शर्तों और दिशानिर्देशों के अनुसार तैयार किया गया है। जिसमें थर्ड-पार्टी की चोट और संपत्ति क्षति को कवर किया जाता है। बाइक बीमाकर्ता केवल मोटर और वाहन अधिनियम द्वारा निर्दिष्ट राशि थर्ड पार्टी की चोट या क्षति की प्रत्येक श्रेणी के खिलाफ कवर प्रदान करते हैं।

थर्ड पार्टी लायबिलिटी टू व्हीलर इंश्योरेंस में शामिल कवर:

  • थर्ड पार्टी मौत कवर
  • थर्ड पार्टी दुर्घटना कवर
  • थर्ड पार्टी कुल / आंशिक / अस्थायी / स्थायी अक्षमता कवर
  • थर्ड पार्टी की संपत्ति क्षति कवर

2020 में बीमा कंपनी के बेस्ट टू व्हीलर इन्शुरन्स प्लान

कंपनी

थर्ड पार्टी कवर

एड-ऑन कवर

प्रमुख विशेषताऐं

सीमाएं

बजाज एलियांज टू व्हीलर इन्शुरन्स

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

उपलब्ध नहीं है

1. पॉलिसी के नवीनीकरण या पॉलिसी ट्रांसफर के लिए कोई निरीक्षण या दस्तावेज आवश्यक नहीं है

2. जल्दी पॉलिसी जारी करना 

3. सरल दावा निपटान

15 साल तक के वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

भारती एक्सा टू व्हीलर इन्शुरन्स

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

उपलब्ध नहीं है

1. पॉलिसी के नवीनीकरण या पॉलिसी ट्रांसफर के लिए कोई निरीक्षण या दस्तावेज आवश्यक नहीं है

2. जल्दी पॉलिसी जारी करना

3. आसान दावा निपटान

10 साल तक वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

एचडीएफसी एर्गो टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

ज़ीरो डेप्रिसिएशन

1. पॉलिसी के नवीकरण या मालिक हस्तांतरण के लिए दस्तावेज आवश्यक है

2. जल्दी पॉलिसी जारी करना

3. व्यापक बीमा कवर

15 साल तक के वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

इफको टोकियो टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

उपलब्ध नहीं है

1. जल्दी पॉलिसी जारी करना

2. व्यापक बीमा कवर

10 साल तक वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

न्यू इंडिया अश्युरेंस टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

ज़ीरो डेप्रिसिएशन

1. जल्दी पॉलिसी जारी करना

2. आसान दावा निपटान

10 साल तक वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

रिलायंस टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

उपलब्ध नहीं है

1. जल्दी पॉलिसी जारी करना

2. आसान दावा निपटान

10 साल तक वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

यूनिवर्सल सोम्पो टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी

1 लाख संपत्ति क्षति का कवरेज

ज़ीरो डेप्रिसिएशन

1. जल्दी पॉलिसी जारी करना

2. आसान दावा निपटान

10 साल तक वाहनों के लिए लाभ उठाया जा सकता है

टू व्हीलर इन्शुरन्स के लाभ

यह सच है कि हाल के वर्षों में, टू व्हीलर इन्शुरन्स उद्योग में काफी बदलाव आया है। आजकल, बीमा कंपनियां कई अलग-अलग विकल्पों के साथ आ गई हैं जो आपकी आवश्यकताओं के अनुसार सबसे अच्छा विकल्प चुनने में आसानी से आपकी मदद कर सकती हैं। आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं। बाइक इन्शुरन्स प्लान से मिलने वाले कुछ लाभ है:-

  1. कॉम्प्रेहेन्सिव और लायबिलिटी कवरेज
  2. वैकल्पिक कवर
  3. संपत्ति क्षति और भौतिक कवर
  4. छूट
  5. एनसीबी - नो क्लेम बोनस

आइए विस्तार से उपरोक्त लाभों पर चर्चा करें

कॉम्प्रेहेन्सिव (व्यापक) और लायबिलिटी कवरेज: टू व्हीलर इन्शुरन्स में आप अपनी आवश्यकताओं के अनुसार उचित बीमा पॉलिसी चुन सकते है। हमेशा कॉम्प्रेहेन्सिव बीमा प्लान चुनने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह आपको अपनी बाइक और थर्ड पार्टी की देयता दोनों के लिए कवरेज प्रदान करता है। जबकि लायबिलिटी इन्शुरन्स पॉलिसी के तहत, ग्राहकों को केवल थर्ड-पार्टी लायबिलिटी के खिलाफ कवरेज मिलेगा।

वैकल्पिक कवर: इस विकल्प के तहत बहुत से कवर आते हैं जैसे व्यक्तिगत दुर्घटना कवर, ज़ीरो डेप कवर इत्यादि। थोड़ी अतिरिक्त राशि का भुगतान करके आप आसानी से कई अतिरिक्त राइडर ले सकते हैं जो अतिरिक्त लेकिन प्रभावी कवरेज प्रदान करेंगे।

नो-क्लेम बोनस - एनसीबी: नो-क्लेम बोनस पॉलिसी नवीकरण के समय प्रीमियम से कटौती की गई राशि का प्रतिशत है जो पिछले पॉलिसी कार्यकाल के दौरान कोई दावा नहीं किए जाने के कारण है। बाइक इन्शुरन्स प्लान्स के साथ आपको प्रत्येक दावाहीन वर्ष के लिए मुफ्त एनसीबी मिलेगा जो प्रीमियम राशि को कम करने में आपकी मदद करेगा। यदि टू व्हीलर पॉलिसी को किसी अन्य बीमाकर्ता को ट्रांसफर करने की आवश्यकता है तो लागू नो-क्लेम बोनस को भी आसानी से स्थानांतरित किया जा सकता है।

छूट: बीमा कंपनियां टू व्हीलर पॉलिसी के प्रीमियम पर छूट की पेशकश करती हैं। यह छूट दो साल से अधिक लंबी अवधि की पॉलिसी के लिए दी जा सकती है। बाइक पर स्थापित सुरक्षा उपकरणों व सुविधाओं और ग्रूप टू व्हीलर प्लान के लिए भी छूट दी जा सकती है।

संपत्ति क्षति और भौतिक कवर: यह मानव निर्मित और प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाली क्षति के खिलाफ कवरेज प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

टू व्हीलर इन्शुरन्स पॉलिसी का प्रीमियम किन कारकों पर निर्भर है?

प्रीमियम गणना निम्नलिखित पर आधारित है:

  1. बाइक बीमाकृत घोषित मूल्य (आईडीवी): आईडीवी वास्तव में वाहन मालिक के लिए वाहन का वर्तमान मूल्य होता है। यह वह राशि है जो वाहन मलिक वाहन चोरी या बाइक की क्षति के खिलाफ दावा कर सकता है। उच्च आईडीवी के लिए उच्च प्रीमियम का भुगतान करना होता है।
  2. डेप्रिसिएशन: यह एक मुख्य कारक है जिससे बाइक इन्शुरन्स प्रीमियम प्रभावित होता है। बाइक जितनी पुराणी होगी डेप्रिसिएशन उतना ही ज्यादा होगा और प्रीमियम काम होगा। नई बाइकों का कोई डेप्रिसिएशन राशि नहीं होती है।
  3. बाइक मूल्य: ज़्यादा महँगी बाइक के लिए ज़्यादा इन्शुरन्स प्रीमियम होता हैं।
  4. एनसीबी: यह नवीनीकरण के मामले में है। एनसीबी को प्रीमियम राशि से कटौती की जाती है, और प्रीमियम कम हो जाता है।
  5. छूट लागू: उच्च सुरक्षा और चोरी से बचाव के उपकरणों की स्थापना पर प्रीमियम से कटौती की जाती है और प्रीमियम कम हो जाता है।
  6. भौगोलिक स्थिति: भौगोलिक स्थिति भी बाइक इन्शुरन्स प्रीमियम को बहुत प्रभावित करती है। किसी पहाड़ी क्षेत्र का प्रीमियम किसी समतल क्षेत्र से हमेशा अधिक होगा।

कुछ टू व्हीलर इंश्योरेंस कंपनी का प्रीमियम

बीमा कंपनियां

आईडीवी

आवरण

प्रीमियम (कर रहित)

ओरिएंटल इन्शुरन्स कंपनी

64,600 रुपये

बंडल कवर (1 साल का नुकसान + 5 वर्ष टीपी)

3,726 रुपये

यूनाइटेड इंडिया इन्शुरन्स

64,600 रुपये

बंडल कवर (1 साल का नुकसान + 5 वर्ष टीपी)

4,001 रुपये

न्यू इंडिया एश्योरेंस

54,360 रुपये

बंडल कवर (1 साल का नुकसान + 5 वर्ष टीपी)

3,517 रुपये

एचडीएफसी ईआरजीओ

63,021 रुपये

बंडल कवर (1 साल का नुकसान + 5 वर्ष टीपी)

4,577 रुपये

बजाज एलियांज इन्शुरन्स कंपनी

68, 314 रुपये

बंडल कवर (1 साल का नुकसान + 5 वर्ष टीपी)

4,430 रुपये

(नई बजाज पलसर डीटीएसआई-इलेक्ट्रिक स्टार्ट, डीअल 7एस नई दिल्ली (आरटीओ))

टू व्हीलर बीमाकर्ता और इन्शुरन्स प्लान का चयन कैसे करें?

इतनी सारे इन्शुरन्स प्लान्स और बीमा कंपनियों के साथ, बीमाकर्ता और बीमा प्लान चुनना वास्तव में काफी मुश्किल हो जाता है। हमेशा एक ऐसी पॉलिसी चुनें जो आपके लिए सबसे उपयुक्त है। उदाहरण के लिए, शीर्ष रैंकिंग बीमा कंपनी महानगरों में अच्छी बीमा सेवाएं प्रदान कर सकती है लेकिन आपके क्षेत्र में उनकी उपस्थिति सीमित हो सकती है। आप एक ऐसे व्यक्ति हो सकते हैं जो अक्सर बाइक से दूरदराज के इलाकों या मुश्किल इलाके में यात्रा करते हो। या हो सकता है कि आप अतिरिक्त कवरेज के साथ एक व्यापक इंश्योरेंस प्लान की तलाश कर रहे हो। विशेष आवश्यकताओं के ऐसे मामलों में यह सुनिश्चित करें कि आपकी आवश्यकता को सर्वोत्तम तरीके से सुलझाया जाए।

अपनी जरूरतों के अनुसार पॉलिसी चुनने के लिए आपको इन सभी टॉप कंपनियों के प्लान चेक करने होंगे जिसमें आपको काफी समय भी लग सकता है। लेकिन यहाँ पॉलिसीएक्स.कॉम पर आप इन सभी कंपनियों के प्लान एक साथ चेक कर सकते है और कम्पेयर भी कर सकते है।

PolicyX.com एक ग्राहक पोर्टल है जहां बाइक मालिक टू व्हीलर इंश्योरेंस प्लान के मूल्य और विशेषताएँ कम्पेयर कर सकते है और खरीद भी सकते है। यह आपको इन्शुरन्स कैलकुलेटर प्रदान करता है, जिसमें आप कुछ बुनियादी विवरण दर्ज करके अपने बीमा उद्धरण को बहुत जल्दी प्राप्त कर सकते हैं।

अपनी टू व्हीलर पॉलिसी को अंतिम रूप देने के दौरान निम्नलिखित सुनिश्चित करें:

  1. इन्शुरन्स कंपनी आईआरडीए अधिकृत होनी चाहिए।
  2. इन्शुरन्स कंपनी के पास पारदर्शी रिकॉर्ड होना चाहिए।
  3. इन्शुरन्स कंपनी की वित्तीय सुदृढ़ता और क्षमता को जांचना जरुरी है।
  4. टू व्हीलर इन्शुरन्स में कंपनी की क्षमता और पिछला प्रदर्शन।
  5. इन्शुरन्स कंपनी द्वारा प्रदान की गई ग्राहक सहायता।
  6. इन्शुरन्स कंपनी का दावा निपटान अनुपात और दावा प्रक्रिया।
  7. इन्शुरन्स प्लान में आपकी बुनियादी और विशिष्ट आवश्यकताओं को पूरा करने की क्षमता होनी चाहिए।

भारत में शीर्ष टू व्हीलर इंश्योरेंस कंपनियां

भारत में कई टॉप जनरल इंश्योरेंस कंपनियां कॉम्प्रेहेन्सिव और लायबिलिटी बाइक इंश्योरेंस प्लान प्रदान कर रही हैं। निम्नलिखित कंपनियों ने बाइक इंश्योरेंस में अच्छी प्रतिष्ठा हासिल की है:

बीमा कंपनी का नाम

थर्ड पार्टी कवर

नेटवर्क गैरेज

व्यक्तिगत कवर (दुर्घटनाग्रस्त)

दावा निपटान अनुपात

पॉलिसी की समय अवधि

नो-क्लेम बोनस

भारती एक्सा जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

4000+

1 लाख रुपये

75 %

1 साल

उपलब्ध

बजाज एलियांज जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

4800+

1 लाख रुपये

62%

1 साल

उपलब्ध

इफको टोकियो जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

4300+

1 लाख रुपये

87 %

1 साल

उपलब्ध

यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

5400+

1 लाख रुपये

88 %

1 साल

उपलब्ध

रिलायंस जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

4450+

1 लाख रुपये

85 %

1 साल

उपलब्ध

न्यू इंडिया एश्योरेंस

उपलब्ध

1150+

1 लाख रुपये

87.54 %

1 साल

उपलब्ध

रॉयल सुंदरम जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

3300+

1 लाख रुपये

89 %

1 साल

उपलब्ध

एचडीएफसी एर्गो जनरल इन्शुरन्स

उपलब्ध

6800+

1 लाख रुपये

82 %

1 साल

उपलब्ध

टू व्हीलर इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने के लिए आवश्यक दस्तावेज

नई बीमा खरीद: टू व्हीलर खरीद के लिए कम दस्तावेज की आवश्यकता होती है। बस आवेदन पत्र भरें और अपनी बाइक की पंजीकरण प्रति संलग्न करें

बीमा का नवीकरण: आपको नवीकरण आवेदन पत्र के साथ पुराने बीमा पत्रों की पंजीकरण प्रति संलग्न करने की आवश्यकता होगी।

टू व्हीलर कवरेज के लिए आवेदन कैसे करें?

आप भारत में टू व्हीलर कवरेज के लिए ऑनलाइन या ऑफ़लाइन आवेदन कर सकते हैं। जब आप कवरेज समय अवधि चुनते हैं तो आपको अपने प्रीमियम का मूल्य प्राप्त होगा। जानते है आवेदन करने की प्रक्रिया:-

बाइक इंश्योरेंस ऑफ़लाइन

यदि आप मोटरबाइक बीमा ऑफ़लाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो आपको एक बीमा एजेंट या बीमा मार्केटिंग सलाहकार तक पहुंचना चाहिए जो मोटर बीमा कंपनी के लिए काम करता है। आमतौर पर ऑफ़लाइन पॉलिसी खरीदारी थोड़ी महँगी होती है क्योंकि इसमें आप एजेंट को अपने प्रीमियम का एक निश्चित प्रतिशत भुगतान करते है। नतीजतन, जब आप ऑफलाइन पॉलिसी देखते हैं तो आपकी दरें अधिक हो सकती हैं। आप ऑफलाइन बाइक इन्शुरन्स कहाँ कहाँ से खरीद सकते है :-

  • बीमाकर्ता के कार्यालय/विभाग से
  • कवरेज एजेंट के माध्यम से
  • एक वित्तीय संस्थान या थर्ड-पार्टी के माध्यम से

बाइक इंश्योरेंस ऑनलाइन

यदि आप ऑनलाइन मोटरबाइक इंश्योरेंस के लिए आवेदन कर रहे हैं, तो आप कंपनी की इंटरनेट साइट पर जा सकते हैं जिसे आप अपने बीमाकर्ता के रूप में चुनते हैं। आप तुरंत उच्च बीमाकर्ताओं से उद्धरण प्राप्त करके प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं। अपने बीमाकर्ता का निर्णय लेने से पहले, आप प्रीमियम कैलक्यूलेटर का उपयोग करके प्रीमियम के बारे में एक विचार प्राप्त कर सकते हैं जिसका आप भुगतान करेंगे। आपको अपने मोटरसाइकिल पंजीकरण संख्या, फोन नंबर और संबंधित क्षेत्र और ईमेल को दर्ज करने की आवश्यकता हो सकती है। फिर आप ऑनलाइन खरीदने के लिए क्लिक कर सकते हैं।

टू व्हीलर बीमा के लिए दावा प्रक्रिया

टू व्हीलर इन्शुरन्स कंपनियां परेशानी मुक्त और सहज दावा निपटान प्रक्रिया प्रदान करती हैं। दावा निपटान प्रक्रिया इंश्योरेंस के प्रकार के अनुसार अलग-अलग होता है। यदि आप किसी थर्ड-पार्टी या वाहन से जुड़े किसी दुर्घटना का सामना किया हैं, तो आप निम्न प्रक्रिया से इसके लिए दावा दर्ज कर सकते हैं:

  1. एफआईआर दर्ज करें: पुलिस को दुर्घटनाओं और चोरी की सूचना दी जानी चाहिए। निकटतम पुलिस स्टेशन पर जाएं और एफआईआर दर्ज करें और एफआईआर की एक प्रति रखें।
  2. तुरंत अपने बीमाकर्ता से संपर्क करें: यदि आप पॉलिसीधारक हैं तो अपने बीमाकर्ता को टू व्हीलर पेपर पर दी गई हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करें और अपने पॉलिसी नंबर, दिनांक और समय और बाइक की क्षति का ब्योरा दें। यदि आप ड्राइवर हैं और पॉलिसीधारक नहीं हैं तो बाइक के मालिक से संपर्क करें।
  3. बीमाकर्ता के निर्देशों का पालन करें: आपको दुर्घटना स्थल पर एक निरीक्षण अधिकारी सौंपा जा सकता है। यदि निरीक्षण अधिकारी नहीं सौंपा गया है तो वाहन की मरम्मत के लिए जाएँ।
  4. नेटवर्किंग गैराज में बाइक की मरम्मत: यदि आपकी पॉलिसी में विशेषता उपलब्ध हैं तो आप साइट पर नेटवर्क गेराज कर्मचारियों को कॉल कर सकते हैं या अपने बीमाकर्ता से टॉइंग सहायता ले सकते हैं। आप अपने बाइक को अपने निकटतम नेटवर्क वाले गेराज में भी डाल सकते हैं।
  5. नकद रहित दावे उठाएं: नेटवर्क गेराज में, आप अपने वाहन की मरम्मत के लिए नकद रहित दावा ले सकते हैं। जैसे आपकी पॉलिसी में उल्लिखित है वैसे नकद रहित दावे की प्रक्रिया का पालन करें।
  6. नोन-नेटवर्क वाले गेराज में बाइक की मरम्मत: नेटवर्क गेराज तक पहुंचने में कई बार संभव नहीं हो सकता है। उस स्थिति में गैर-नेटवर्क वाले गेराज या मरम्मत केंद्र से मरम्मत बिल प्राप्त करें और आपकी पॉलिसी में उल्लिखित गैर-नेटवर्क गेराज मरम्मत के लिए दावे निपटारे की प्रक्रिया का पालन करें।
  7. दावे की प्रक्रिया के लिए आवश्यक दस्तावेज: आप चाहे नकद रहित या पोस्ट-पेमेंट दावा जमा करें, आपको जमा करने के लिए अपने बीमाकर्ता को निम्नलिखित दस्तावेज जमा करना होगा
    1. टू व्हीलर पॉलिसी की कॉपी
    2. अपने बाइक पंजीकरण प्रमाण पत्र की कॉपी
    3. आपकी या चालक की ड्राइविंग लाइसेंस कॉपी
    4. एफ.आई.आर की प्रति
    5. चिकित्सा बिल (व्यक्तिगत दुर्घटना कवर दावा के लिए)
    6. बाइक मरम्मत बिल (गैर-नेटवर्क वाले गेराज में बाइक की मरम्मत के लिए)

- / 5 ( Total Rating)