Sehwag PX
ओरिएंटल पर्सनल एक्सीडेंट इन्शुरन्स
  • 100+ शीर्ष इन्शुरन्स प्लान
  • 5 लाख रुपये का कवरेज @ ₹16/प्रतिदिन*
  • तुरंत पॉलिसी खरीदें

#Virukipolicy | T&C*

प्रीमियम की तुलना करें

1

2

नाम
कवर फोर
जन्म तिथि (सबसे बड़ा सदस्य)

1

2

फोन नंबर
ईमेल
शहर

आगे बढ़ कर आप हमारी T&C और गोपनीयता नीति को स्वीकार कर रहे हैं

ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी का गठन 12 सितंबर 1947 को मुंबई में जनरल इंश्योरेंस बिज़नेस करने के लिए किया गया। ओरिएंटल गवर्नमेंट सिक्योरिटी लाइफ एश्योरेंस कंपनी लिमिटेड इसकी ओनर थी। कंपनी अपने ग्राहकों के लिए सबसे अच्छा सिस्टम उपलब्ध कराने और बिज़नेस को सही ढंग से चलाने में विश्वास करती है। आज जरूरत है की फ्यूचर को ध्यान में रखते हुए हम किसी भी तरह का एक्सीडेंट होने पर आने वाली फाइनेंसियल प्रोब्लेम्स से परिवार को सुरक्षित रखे। ओरिएंटल इन्शुरन्स पॉलिसी, इन्शुरन्स होल्डर को विज़िबल, एक्सटर्नल या वायलेंस की वजह से होने वाली चोटों के इलाज के अलावा एक्सीडेंट के वजह से हुई किसी भी प्रकार की डिसेबिलिटी (जो टेम्पररी या परमानेंट हो सकती है) या डेथ हो जाने पर  एक निश्चित अमाउंट देकर सहायता करती है। कंपनी के पास हर व्यक्ति के बजट और इन्शुरन्स की जरूरतों के हिसाब से प्रोडक्ट्स उपलब्ध हैं।

ओरिएंटल इंश्योरेंस: अचीवमेंट्स

वर्ष 2003 में कंपनी के सभी शेयर सेंट्रल गवर्मेन्ट को ट्रांसफर कर दिए गए थे। 1950 में कंपनी के पहले साल का प्रीमियम 99,946 रुपये था। ओरिएंटल इन्सुएन्स का हेड ऑफिस नई दिल्ली में है और कंपनी के 31 रीजनल ऑफिसेस हैं। इसके अलावा दुनिया भर के कई शहरों में कंपनी के 1800 से ज्यादा रीजनल ऑफिसेस हैं। पूरे देश में कंपनी के कुल 14000 एम्प्लॉई हैं जो जरूरत पड़ने पर किसी भी प्रकार की सहायता के लिए उपलब्ध हैं। कंपनी के पास भारत की ग्रामीण और शहरी दोनों तरह की आबादी को सूट होने वाले प्लान उपलब्ध है। कंपनी के एम्प्लॉई कम्पीटेंट होने के साथ साथ आपको बेस्ट डील देते हैं। कंपनी स्टील प्लांट, पावर प्लांट, पेट्रोकेमिकल्स और केमिकल प्लांट जैसे बड़े प्रोजेक्ट्स को भी कवर करती है। कंपनी का मकसद अपने ग्राहकों को जल्द से जल्द और अच्छी सर्विस देना है वो भी ज्यादा डॉक्यूमेंटेशन के झंझटों के बिना। कंपनी अपने कस्टमर्स को अच्छे प्लान्स चुनने में भी मदद करती है। कंपनी को विश्वास है की वो जल्द ही बेस्ट कस्टमर सटिस्फैक्शन का अवार्ड अपने नाम कर लेंगे और उन्हें लगता है की वो इस लक्ष्य के काफी करीब हैं।

ओरिएंटल पर्सनल एक्सीडेंट इन्शुरन्स: ऑनलाइन फैसिलिटीस

किसी भी तरह की पॉलिसी के डिटेल्स जानने के लिए सबसे अच्छा तरीका है ऑनलाइन फैसिलिटी का यूज़ करना। कंपनी के ऑनलाइन एजेंट्स किसी भी तरह की तरह की प्रॉब्लम आने या आपके सवालों का जवाब देने और हेल्प करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। इसके अलावा आप अगर कोई पॉलिसी लेना चाहते हैं तो उससे रिलेटेड पर्सनल एडवाइस भी ले सकते हैं। ऑनलाइन फैसिलिटीज में कस्टमर चैट और हेल्प के अलावा पॉलिसी रिन्यूअल और ऑनलाइन पेमेंट के ऑप्शंस भी शामिल हैं। कंपनी  के वेबसाइट पर लॉगिन करके कई तरह के काम आसानी से किये जा सकते हैं। इसके अलावा दूसरे बैंक के कार्डों से भी पेमेंट किया जा सकता है।

ओरिएंटल पर्सनल एक्सीडेंट इन्शुरन्स प्लान

एक्सीडेंट्स कभी भी हो सकते हैं और इसमें बॉडी के किसी भी पार्ट को नुकसान हो सकता है।सबसे खराब स्थिति में व्यक्ति की डेथ भी हो सकती है। अपनी जरूरत के हिसाब से किसी एक पॉलिसी को चुनने से पहले ये जरूरी है की आप डिफरेंट प्लान्स के बारे में जान लें:

ग्रामीण एक्सीडेंट इन्शुरन्स प्लान

ये विशेष रूप से ग्रामीण कस्टमर्स के लिए बनाई गई है और इसमें प्रीमियम भी बहुत सस्ता होता है। यह एक एनुअल प्लान है और कस्टमर को प्लान्स के टर्म्स और कंडीशंस को समझने के लिए 15 दिनों का टाइम भी दिया जाता है जिसके भीतर अगर आप चाहें तो पॉलिसी को कैंसिल कर सकते हैं। साथ ही, पॉलिसी को समय-समय पर रिन्यू करने की फैसिलिटी भी दी जाती है।

जनता पर्सनल एक्सीडेंट प्लान

ये एक एनुअल प्लान है जिसका प्रीमियम 25000 - 5 लाख तक हो सकता है। इस योजना को 10 वर्ष - 80 वर्ष की आयु के व्यक्ति ले सकते हैं।

नागरिक सुरक्षा प्लान

यह प्लान केवल भारत के नागरिकों के लिए बनाया गया है जिसमे एक्सीडेंट के बाद जॉब चले जाने से होने वाले नुक़सान, पार्शियल या टोटल डिसेबिलिटी को भी कवर किया गया है।

पर्सनल एक्सीडेंट प्लान- इंडिविजुअल

ये प्लान 18 से 75 वर्ष की आयु का व्यक्ति बिना किसी मेडिकल जांच के ले सकता है और लाइफ लॉन्ग कवरेज का फायदा उठा सकता है।

पर्सनल एक्सीडेंट ग्रुप प्लान

ये  प्लान पर्सनल और फॅमिली कवर के रूप में उपलब्ध है। इसे एम्प्लॉई या किसी भी फॉर्मल ग्रुप्स के लिए लिया जा सकता है। इन्शुरन्स कवरेज निम्नलिखित मामलों में ही दिया जायेगा:

  1. एक्सीडेंट के वजह से इन्शुरन्स होल्डर की डेथ (मौके पर या चोट की रिकवरी के दौरान) होने पर।
  2. टोटल या ठीक ना हो सके ऐसी लॉस ऑफ़ ऑय साईट या हाथ और पैर (एक या दोनों) का शरीर से अलग हो जाने पर या हाथ / पैर के विभिन्न हिस्सों के टूटने या अलग होने के मामले में कितना अमाउंट कंपनी देगी इसकी जानकारी जरूर लेनी चाहिए।

ओरिएंटल पर्सनल एक्सीडेंट इन्शुरन्स: एक्सक्लूशन (क्या कवर नहीं किया गया है)

  1. आत्महत्या का प्रयास
  2. शराब या ड्रग्स (किसी भी प्रकार के नशे) के कारण होने वाली डेथ।
  3. वॉर की वजह से डेथ
  4. बच्चे के जन्म और प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली किसी भी तरह की चोट या डेथ को कवर नहीं किया गया है।
  5. किसी भी प्रकार के खेल के दौरान होने वाले एक्सीडेंट्स।
  6. पागलपन

- / 5 ( Total Rating)