Sehwag PX
अपोलो म्यूनिख ट्रेवल इन्शुरन्स

#Virukipolicy | T&C*

इंडियन सबकॉन्टिनेंटल में टॉप हेल्थकेयर की बात आती है तो अपोलो का नाम ही पहले आता है। ये बात ना केवल इंटरनेशनल हेल्थकेयर प्रोफेशनल, बल्कि दुनिया भी मानती है। देश में ही वर्ल्ड क्लास हेल्थ केयर सर्विस देने के अपने इरादे को पूरा करने के लिए अपोलो हॉस्पिटल ग्रुप ने म्यूनिख हेल्थ जो की एक इंटरनेशनल इन्शुरन्स लीडर है के साथ हाथ मिलाया है। अपोलो म्यूनिख हेल्थ इन्शुरन्स लिमिटेड भारत की एक हेल्थ इन्शुरन्स कंपनी है जिसकी स्थापना 8 अगस्त 2007 को हुई थी। यह अपोलो हॉस्पिटल्स आर्गेनाइजेशन और म्यूनिख हेल्थ का जॉइंट वेंचर है, जो जर्मनी की एक मेन रीइन्शुरन्स कंपनी म्यूनिख रे के तीन बिज़नेस एरिया में से एक है। अपोलो म्यूनिख मेडिकल इन्शुरन्स को मेडिकल इन्शुरन्स प्रोडक्ट्स के डिस्ट्रीब्यूशन और सर्विसिंग का सर्टिफिकेट आईएसओ - 9001: 2008 मिला हुआ है और कंपनी के पूरे भारत में 100 वर्कप्लेस हैं।

आप छुट्टियों पर जाने का प्लान बना रहे हैं या विदेश में जाकर पढ़ाई करने की तैयारी? एक लम्बी छुट्टी आपको ना केवल वर्क लाइफ की टेंशन से आराम देती है बल्कि खुद को रिचार्ज करने में मदद भी करती है। हालाँकि अगर आप ट्रेवल  पर  जाते समय जरूरी सावधानी नहीं बरतते हैं, तो आपका ये  सपना  एक  बुरे अनुभव में भी बदल  सकता है। इसलिए किसी भी सिचुएशन में खुद का बचाव करने और विदेश में बिना किसी डर के एन्जॉय करने के लिए आपको ट्रेवल इन्शुरन्स पॉलिसी जरूर खरीदना चाहिए।

जब आप विदेश यात्रा कर रहे हैं तब अपोलो म्यूनिख ट्रेवल इन्शुरन्स के रूल्स आपकी प्रोटेक्शन और फाइनेंसियल सेफ्टी का ध्यान रखते हैं। कंपनी आपको कई तरह की पॉलिसीस एक निश्चित प्रीमियम अमाउंट पर ऑफर करती है जैसे लोगों के लिए, घर के लिए, सीनियर सिटीजन्स के लिए और उनके लिए भी जो लगातार ट्रेवल करते रहते हैं और इसमें टूर कवरेज प्लान्स भी शामिल हैं। इसमें सभी के लिए अलग-अलग प्लान्स के ऑप्शन्स हैं जिन्हे अपनी जरूरत और बजट के हिसाब से ख़रीदा जा सकता है।

अपोलो म्यूनिख ट्रेवल इन्शुरन्स: अचीवमेंट्स

अपोलो म्यूनिख हेल्थ इन्शुरन्स ने बहुत से अवार्ड्स जीते हैं -

2016: बीएफएसआई केटेगरी के अंदर ईटी टॉप लोगो अवार्ड जीता, लगातार 6 वीं बार काम करने के लिए ग्रेट प्लेस रिकग्निशन मिला, सीएमओ एशिया का इस्तेमाल करके सस्टनेबल मार्केटिंग एक्सीलेंस के लिए ग्लोबल ब्रांड एक्सीलेंस अवार्ड जीता और फिनलेक्ट से क्लेम्स सर्विस लीडर का इंडियन इन्शुरन्स अवार्ड 2016 जीतकर कंपनी काफी पॉपुलर हो गयी।

2015: मनी टुडे से बेस्ट हेल्थ इन्शुरन्स प्रोवाइडर का अवार्ड। कंपनी को टेक्नोलॉजी लीडर ऑफ द ईयर का इंडियन इन्शुरन्स अवार्ड भी मिला है।

2014: एशिया इंश्योरेंस का इनोवेशन ऑफ़ दी ईयर और फिनलेक्ट फॉर एनर्जी का डॉयबिटीज़ से पीड़ित लोगों के लिए इन्शुरन्स कम वैलनेस प्लान अवार्ड।  कंपनी को फाइनलेक्ट का इंश्योरर ऑफ द ईयर और हीरो साइकिल्स का इंडिया हेल्थ एंड वेलनेस अवार्ड्स 2014 भी मिला।

2013: अपोलो म्यूनिख को इंडियन इन्शुरन्स अवार्ड 2013 में भारत की हेल्थ इन्शुरन्स देने वाली सबसे बेस्ट कंपनी के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके साथ ही बेस्ट फिल्म (फाइनेंसियल प्रोडक्ट) केटेगरी में द एबी (ब्रोंज) का पुरस्कार जीता। इंडियन इंश्योरेंस अवार्ड्स में, कंपनी ने दो पुरस्कार हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी ऑफ द ईयर और टेक्नोलॉजी मैच्योरिटी अवार्ड जीते।

2012: आउटलुक मनी से बेस्ट हेल्थ इन्शुरन्स कंपनी का अवार्ड मिला। एशिया इन्शुरन्स रीव्यू, फिनोविटी, डिगिरती और फिनटेलेक्ट से कंपनी के पायोनियरिंग प्रोडक्ट ऑप्टिमा रिस्टोर के लिए मल्टीपल इनोवेशन अवार्ड भी जीता। 

2011: अपने मार्केटिंग कैंपेन, "मेकिंग टाइम टू पॉज़" में इफेक्टिवनेस दिखाने की वजह से 'एफी' अवार्ड प्राप्त किया। इंडियन इन्शुरन्स रिव्यु से ई-बिजनेस लीडर का अवार्ड भी जीता।

2009: बेस्ट कॉर्पोरेट वेलनेस आर्गेनाइजेशन होने की वजह से कंपनी ने सी टू (CII) वेलनेस अवार्ड भी जीता।

अपोलो म्यूनिख ट्रैवल इन्शुरन्स : ऑनलाइन फैसिलिटीज

अपोलो म्यूनिख ट्रैवल इन्शुरन्स अपने कस्टमर्स का पूरी तरह से ख्याल रखती है। कंपनी के इफेक्टिव ऑनलाइन प्लेटफार्म पर हेल्थकेयर और ट्रेवल प्रोडक्ट्स की एक लम्बी रेंज उपलब्ध है। कंपनी प्रोडक्ट्स कस्टमाइज़िंग का ऑप्शन भी देती है जिससे कस्टमर्स की जरूरतों को आसानी से पूरा किया जा सके। ऑनलाइन ऑप्शन से आप एक ही प्लेटफार्म से इफेक्टिव प्लान को सस्ती कीमत पर खरीद सकते हैं। आपको बस सही प्लान चुनने की जरूरत है।

अपोलो म्यूनिख ट्रेवल इन्शुरन्स प्लान

इजी ट्रेवल: इंडिविजुअल

ये क्लीन ट्रेवल कवरेज एक व्यक्ति जो 6 महीने - 70 साल की ऐज केटेगरी में आता है, ले सकता है। पॉलिसी को 180 दिनों की ट्रेवल पीरियड के लिए जारी किया जाता है। इसमें पाँच तरह के प्लान्स हैं, जो $25000 से शुरू होकर $500,000 तक जाते हैं।इजी ट्रेवल: सीनियर सिटीजन

अगर आप सीनियर सिटीजन हैं तो इजी ट्रेवल सीनियर सिटीजन प्लान के साथ आपका फॉरेन ट्रेवल काफी आसान हो सकता है। यह प्लान 71-80 साल के लोगों के लिए तैयार किया गया है। यह कई वेरिएंट: सिल्वर और ब्रॉन्ज में सम इन्स्योर्ड अमाउंट $1,00,000 और $50,000 के ऑप्शन के साथ आता है।

इजी  ट्रेवल - फॅमिली 

अगर आप अपनी फॅमिली के साथ ट्रेवल करने वाले हैं तो सब के लिए अलग-अलग ट्रेवल इन्शुरन्स लेने की जगह पर परिवार के सभी लोगों के लिए अपोलो म्यूनिख की स्मूथ ट्रेवल इन्शुरन्स का सिंगल प्लान ले सकते हैं। इस प्लान में 6 महीने से 70 साल तक के लोगों को कवर किया जाता है। फॅमिली ट्रेवल इन्शुरन्स प्लान में तीन ऑप्शंस सिल्वर, ब्रॉन्ज और एशियन लोकेशन हैं, जिसमें इन्शुरन्स अमाउंट $25,000 - $1,00,000 के बीच हो सकता है। फॅमिली ट्रेवल इन्शुरन्स प्लान एडल्ट्स (पुरुष या महिला और पति या पत्नी) के साथ कम से कम दो बच्चों को जिनकी ऐज 21 साल या उससे ज्यादा नहीं है, को भी कवर करती है।

इजी ट्रेवल - एनुअल मल्टी ट्रेवल प्लान 

अपोलो म्यूनिख की इजी ट्रेवल एनुअल मल्टी ट्रिप पॉलिसी आपको छुट्टियों में कम्पलीट इन्शुरन्स की वारंटी देती है। ये ट्रेवल इन्शुरन्स प्लान आपको चार अल्टरनेटिव्ज प्लेटिनम, गोल्ड, सिल्वर और एशियाई लोकेशन में से एक चुनने की फैसिलिटी देता है। ये पॉलिसी आपको सम इन्स्योर्ड अल्टरनेटिव्ज देती है जो $25,000 से  $5,00,000 के बीच हो सकता है। यह कवरेज बारह महीनों के लिए जारी किया जाता है और ट्रेवल पीरियड के बढ़ने पर कवरेज को 30/60 दिनों तक बढ़ाया जा सकता है।

अपोलो म्यूनिख ट्रेवल इन्शुरन्स: क्या कवर नहीं है

  • किसी भी तरह का एडवेंचर अगर जानबुझकर मेडिकल ट्रीटमेंट लेने के लिए किया जाये।
  • किसी भी तरह का वॉर, एक्ट ऑफ़ कॉन्फ्लिक्ट, फॉरेन एनिमी, वॉर फेयर जैसे ऑपरेशन्स, किसी भी तरह का हमला, पब्लिक डिफेन्स, सिविल कॉन्फ्लिक्ट,रेवोलुशन, आर्मी ऑपरेशन्स, केमिकल, रेडियो एक्टिव या न्यूक्लियर कंटेनिमशन और टेरोरिसम।
  • मिलिट्री और  एयर फ़ोर्स ऑपरेशन्स में इन्वॉल्वमेंट।
  • रेसिंग, एविएशन, डाइविंग, स्कूबा डाइविंग, होल्ड-ग्लाइडिंग, पैराशूटिंग, माउंटेन / रॉक क्लाइम्बिंग में पार्टिसिपेशन।
  • किसी भी तरह की बदमाशी या ब्रीच ऑफ़ रेगुलेशन।
  • मादक पदार्थों का उपयोग करना जैसे की शराब और कैप्सूल।
  • आत्महत्या या आत्महत्या का प्रयास, खुद को नुकसान पहुंचना या इन्फेक्शन।
  • प्रेगनेंसी और बच्चे के जन्म से जुड़ी कॉम्प्लीकेशन्स।
  • सेक्सुअली ट्रांसमिटेड बीमारियाँ जिसमें एचआईवी / एड्स शामिल हैं।
  • पहले से मौजूद मेडिकल कंडीशंस की वजह से होने वाले प्रोब्लेम्स।