आईसीआईसीआई प्रू आईप्रोटेक्ट स्मार्ट
  • कवरेज उपलब्ध 10 करोड़ तक
  • टर्म प्लान @ ₹10/प्रतिदिन से शुरू
  • टैक्स लाभ यू /एस 80 सी
PX step

प्रीमियम की तुलना करें

1

2

फोन नंबर
नाम
जन्म तिथि

1

2

आय
शहर

आगे बढ़ कर आप हमारी T&C और गोपनीयता नीतिको स्वीकार कर रहे हैं

क्या कोई ऐसी पॉलिसी है जो मृत्यु से पहले बीमित राशि का भुगतान करती हो? क्या आप किसी ऐसे टर्म जीवन बीमा को जानते हैं, जो एड्स जैसी लाइलाज बीमारियों का पता लगने के बाद वित्तीय सुरक्षा देता है? क्या दुर्घटना के कारण स्थायी विकलांगता की स्थिति में कोई टर्म प्लान भुगतान करेगा?

उपर्युक्त सभी सवालों का जवाब एक है यानी आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस - आईप्रोटेक्ट स्मार्ट टर्म प्लान। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल आईप्रोटेक्ट स्मार्ट टर्म प्लान एक नॉन लिंक्ड, नॉन पार्टिसिपेटिंग जीवन बीमा पॉलिसी है। पॉलिसीधारक की अनुपस्थिति में परिवार को सुरक्षा प्रदान करने के अलावा, यह कर लाभ के साथ पॉलिसीधारक को प्रीमियम का भुगतान करने में भी लचीलापन देता है।

आईप्रोटेक्ट स्मार्ट के लिए जरुरी शर्तें

बीमा राशि

बीमाधारक की आय के आधार पर

प्रवेश की आयु

18 वर्ष से 60 वर्ष

पॉलिसी की अवधि

5 से 67 वर्ष

परिपक्वता आयु

85 साल तक

प्रीमियम भुगतान मोड

एकल, वार्षिक, अर्धवार्षिक और मासिक

न्यूनतम प्रीमियम का भुगतान किया गया

जीएसटी और सेस जैसे सभी करों सहित प्रति वर्ष 3,600 रु

एक्सीडेंटल डेथ राइडर बीमा राशि

1,00,000 से 75,00,000 रु

क्रिटिकल इलनेस राइडर बीमा राशि

1,00,000 से 75,00,000 रु

प्रीमियम विवरण

प्रीमियम भुगतान के लिए विकल्प

प्रीमियम भुगतान की अवधि

पॉलिसी की अधिकतम / न्यूनतम अवधि

न्यूनतम और अधिकतम प्रवेश आयु

सिंगल

सिंगल

5/20 साल

18 - 60

नियमित भुगतान

पॉलिसी अवधि के समान

5 साल / 85 माइनस एंट्री एज

18 - 60

संपूर्ण जीवन (99 माइनस एंट्री एज)

सीमित भुगतान

5, 7, और पॉलिसी अवधि माइनस 5 साल

60 वर्ष माइनस एंट्री एज

18 - 60

10 साल

15 साल / 85 साल की माइनस एंट्री एज पूरी लाइफ (99 साल की माइनस एंट्री एज)

60 वर्ष की माइनस एंट्री एज

प्रीमियम भुगतान अवधि + 5 वर्ष / 85 वर्ष माइनस प्रवेश आयु

18 - 55

पूरे जीवन (99 वर्ष माइनस एंट्री एज

आईसीआईसीआई आईप्रोटेक्ट योजना में बीमित राशि के विकल्प क्या है?

लाइफ ऑप्शन

इस विकल्प के द्वारा बीमित व्यक्ति अपनी मृत्यु का कोई ठीक न होने वाली बीमारी के होने की स्थिति में अपने लाभार्थी या परिवार को वित्तीय सहायता पंहुचा सकता है। जब बीमाधारक किसी विकलांगता का शिकार हो जाता है तो यह विकल्प एक पूर्ण संसाधन के रूप में कार्य करता है।

लाइफ प्लस

इस विकल्प के तहत लाइफ ऑप्शन के सभी लाभ शामिल हैं और इसके अलावा, इसमें आकस्मिक मृत्यु लाभ भी शामिल है जो किसी दुर्घटना के कारण मृत्यु की स्थिति में कार्य करता है। ऐसे लाभों के तहत किए गए दावों के भुगतान के बाद पॉलिसी समाप्त हो जाती है।

लाइफ प्लस हेल्थ

लाइफ ऑप्शन विकल्प की तरह, लाइफ प्लस हेल्थ भी गंभीर बीमारी के लिए कवरेज प्रदान करता है। सूचीबद्ध क्रिटिकल इलनेस में से किसी एक के होने पर, कंपनी बीमारी के उपचार पर वास्तविक राशि की परवाह किए बिना क्रिटिकल इलनेस लाभ के लिए चुने गए बीमित राशि का भुगतान करेगी।

आल इन वन ऑप्शन

यह विकल्प दुर्घटना लाभ और गंभीर बीमारी लाभ के कारण टर्मिनल बीमारी या व्यक्तिगत विकलांगता का पता लगने पर और मृत्यु पर बीमित राशि प्रदान करेगा।

आईसीआईसीआई आईप्रोटेक्ट स्मार्ट पॉलिसी से मिलने वाले लाभ

महिलाओं के लिए विशेषाधिकार - जब महिलाएं आईप्रोटेक्ट स्मार्ट टर्म इंश्योरेंस खरीदती है तो उनके द्वारा भुगतान की जाने वाली प्रीमियम की दर में छूट दी जाती है। इसके अतिरिक्त, उन्हें स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर जैसी बीमारियों को कवर करने का विकल्प मिलता है जो आज के समय में आम हैं।

स्थायी विकलांगता के कारण प्रीमियम की छूट - बीमाधारक किसी भी दुर्घटना के कारन विकलांगता का शिकार होता है तो भविष्य के प्रीमियम पूरी तरह से छूट प्रदान की जाती है और सभी प्रीमियम कंपनी द्वारा वहन किया जाएगा। स्थायी विकलांगता में अंधापन, चढ़ने या उठाने में अक्षमता या कुछ भी ठीक से न लिख पाना और घुटनों को मोड़ना भी शामिल हो सकता है।

मृत्यु लाभ - मृत्यु की स्थिति में, कंपनी दावा राशि का भुगतान या तो खरीद के समय पॉलिसीधारक द्वारा चयनित के रूप में / नियमित आय / बढ़ती हुई आय / एकमुश्त राशि करेगी।

जीवन चरण लाभ - कभी - कभी लोगों को जीवन में बदलती जरूरतों पर धन की कमी महसूस होती है जो उनकी बचत और आय को आर्थिक रूप से प्रभावित कर सकते हैं। बच्चे के जन्म, बच्चों की शादी जैसी घटनाएं माता-पिता की प्रमुख जिम्मेदारियां होती हैं। इस बात पर उचित ध्यान देने के साथ, आईप्रोटेक्ट स्मार्ट प्लान उनकी जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए बीमित राशि को बढ़ाने के लिए लचीलापन देता है।

आयोजन

अतिरिक्त मृत्यु लाभ (मूल मृत्यु लाभ का%)

अधिकतम अतिरिक्त मृत्यु लाभ (रुपये में)

शादी

50%

50,00,000 रु

मैटरनिटी / बच्चा गोद लेना (पहला बच्चा)

25%

25,00,000 रु

मैटरनिटी / बच्चा गोद लेना (दूसरा बच्चा)

25%

25,00,000 रु

कृपया ध्यान दें: यह सुविधा केवल लाइफ ऑप्शन पर लागू है।

कर लाभ - धारा 80 सी के तहत सभी विकल्पों के लिए भुगतान किये हुए प्रीमियम और लाइफ प्लस हेल्थ के तहत प्रीमियम भुगतान और आल इन वन विकल्प में धारा 80 डी के तहत लाभ प्राप्त होगा।

टर्मिनल बीमारी के लिए कवर - जबकि अधिकांश बीमा योजना में एड्स के कारण मृत्यु को शामिल नहीं किया गया है लेकिन आईप्रोटेक्ट स्मार्ट एड्स संक्रमित पॉलिसीधारक को भुगतान करता है।

उदाहरण के लिए - अगर आदित्य ने 2013 में 50 लाख रुपये की आईप्रोटेक्ट स्मार्ट टर्म पॉलिसी खरीदी और पांच साल के बाद उन्हें एक टर्मिनल बीमारी पायी गई। तथ्य की सूचना के बाद कंपनी पूरी कवरेज राशि बीमाधारक को सौंप देती है। आदित्य अपने होम लोन और अन्य वित्तीय ऋणों की तरह अपनी सभी देनदारियों को समाप्त कर सकता है ताकि उसके परिवार को उसकी अनुपस्थिति में कोई दिक्कत न हो।

लचीलापन - एक पॉलिसीधारक के पास पॉलिसी के तहत विभिन्न विकल्प हैं जैसे सस्ती प्रीमियम, वैकल्पिक कवरेज, मृत्यु लाभ के लिए भुगतान विकल्प, पॉलिसी की अवधि।

दावा निपटान अनुपात - कंपनी ने बाजार में एक अद्भुत प्रतिष्ठा स्थापित की है जो अपने ग्राहकों को दी जाने वाली ब्रांड वैल्यू और विश्वासशीलता को दर्शाता है। दावा निपटान का अनुपात 97.88% है।

मृत्यु लाभ भुगतान विकल्प

  • लम्पसम - इस विकल्प के तहत, पॉलिसीधारक के नामित को मृत्यु के बाद एक बार में एकमुश्त राशि या पूर्ण बीमित राशि प्राप्त होगी।
  • रेगुलर इनकम - इस विकल्प को चित्रित करने के लिए एक उदाहरण लेते हैं- प्रेरणा ने 2 करोड़ रुपये का जीवन बीमा लिया है और मृत्यु भुगतान विकल्प के रूप में रेगुलर इनकम का विकल्प चुना। उनके निधन के बाद, नामित व्यक्ति 10 वर्षों के लिए 20 लाख (2 करोड़ का 10%) की नियमित आय प्राप्त करेगा। जबकि मासिक भुगतान 2 करोड़ का @ 0.80% होगा यानी 1,60,000।
  • इनक्रीजिंग इनकम - इस विकल्प में लाभ राशि प्रत्येक वर्ष के बाद बढ़ती रहेगी। लाभ राशि बीमित राशि पर निर्धारित होगी। पहले साल की आय बीमित राशि का 10% होनी चाहिए जो हर साल 10% बढ़ती रहेगी। यदि बीमाधारक के पास 2 करोड़ रुपये का जीवन बीमा कवर है और पॉलिसीधारक की मृत्यु के बाद पहले साल की आय 20 लाख (2 करोड़ का 10%) होगी। प्रथम वर्ष की आय में 10% की वृद्धि को लागू करने के बाद, दूसरे वर्ष की आय 22 लाख रुपये होगी। यह प्रक्रिया 10 साल पूरे होने तक चलती रहेगी।
  • लम्पसम प्लस इनकम - पॉलिसीधारक के लाभार्थियों को बीमित राशि पर दोनों एकमुश्त और निश्चित नियमित आय का लाभ मिलेगा। यदि कुल कवरेज 2 करोड़ का है, जहाँ भुगतान की गई राशि 80 लाख है और नियमित आय 10% होगी जो 12,00,000 और मासिक आय 1 लाख रुपये होगी।

आईप्रोटेक्ट स्मार्ट वैकल्पिक लाभ

एक्सीडेंटल डेथ: दुर्घटनाएं कभी कह कर नहीं होती हैं और आपको इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ती है जो आपकी बचत और आय को खत्म कर सकती है। इसके खिलाफ सुरक्षा देने के लिए, आईप्रोटेक्ट स्मार्ट पॉलिसी दुर्घटना के लिए अधिकतम 2 करोड़ मौत का कवरेज प्रदान करती है। पॉलिसी अवधि के दौरान या खरीदारी के समय पॉलिसीधारक इस लाभ को चुन सकता है।

उदाहरण के लिए- 35 साल के एक व्यक्ति यश ने वैकल्पिक कवर के रूप में 50 लाख रुपये की आकस्मिक मृत्यु लाभ के साथ-साथ 1 करोड़ रुपये की आईप्रोटेक्ट स्मार्ट बीमा पॉलिसी का कवर खरीदा। दस साल बाद, सड़क दुर्घटना के कारण उनकी मृत्यु हो गई। नॉमिनी द्वारा दावा करने पर कंपनी ने 1.5 करोड़ रुपये का भुगतान किया।

क्रिटिकल इलनेस बेनिफिट: आईप्रोटेक्ट स्मार्ट टर्म इंश्योरेंस प्लान में मस्तिष्क की सर्जरी, स्ट्रोक, किडनी और लीवर फेलियर, हार्ट वाल्व सर्जरी, ट्रॉमा, प्रमुख अंग प्रत्यारोपण जैसे 34 गंभीर बीमारियों को शामिल किया गया है। दावा राशि का भुगतान केवल निदान रिपोर्ट की छायाप्रति जमा करके गंभीर बीमारी की जांच पर किया जाएगा। अधिकतम भुगतान 1 करोड़ तक है। यदि पॉलिसीधारक द्वारा एक गंभीर बीमारी कवर का लाभ उठाया जाता है, तो दावा राशि को वास्तविक बीमा राशि से घटा दिया जाता है और भविष्य के प्रीमियम को भी कम कर दिया जाएगा।

आइए बीमित राशि विकल्पों के तहत लाभों की उपलब्धता की जांच करें-

लाभ

जीवन विकल्प

जीवन प्लस

जीवन प्लस स्वास्थ्य

सभी एक विकल्प में

गंभीर बीमारी लाभ

लागू नहीं

लागू नहीं

बशर्ते

बशर्ते

एक्सीडेंटल डेथ बेनिफिट

लागू नहीं

शर्तों के अनुसार

लागू नहीं

शर्तों के अनुसार

गंभीर बीमारी

शर्तों के अनुसार

शर्तों के अनुसार

शर्तों के अनुसार

शर्तों के अनुसार

प्रीमियम छूट लाभ

शर्तों के अनुसार

शर्तों के अनुसार

शर्तों के अनुसार

शर्तों के अनुसार

मृत्यु का लाभ

शर्तों के अनुसार

शर्तों के अनुसार

शर्तों के अनुसार

शर्तों के अनुसार

बहिष्करण

मौत के कारण अगर निम्न है:-

  • शराब, तम्बाकू या किसी नशीले पदार्थों के सेवन के कारन हुए मृत्यु या आत्महत्या।
  • युद्ध, खेल, आपराधिक गतिविधियों में शामिल होना।

लाइफ इन्शुरन्स कंपनीज