स्वास्थ्य बीमा (हेल्थ इंश्योरेंस) क्या है?
  • 100+ शीर्ष इन्शुरन्स प्लान
  • 5 लाख रुपये का कवरेज @ ₹16/प्रतिदिन*
  • तुरंत पॉलिसी खरीदें
PX step

प्रीमियम की तुलना करें

1

2

नाम
कवर फोर
जन्म तिथि (सबसे बड़ा सदस्य)

1

2

फोन नंबर
शहर

आगे बढ़ कर आप हमारी T&C और गोपनीयता नीति को स्वीकार कर रहे हैं

स्वास्थ्य बीमा (हेल्थ इंश्योरेंस) या जिसे हम मेडिकल इंश्योरेंस भी कहते है, एक प्रकार की बीमा पॉलिसी होती है जो पॉलिसी धारक को किसी बीमारी या दुर्घटना के समय होने वाले अस्पताल के ख़र्चों के लिए आर्थिक मदद प्रदान करती है। यह बीमा कंपनी और ग्राहक के बीच एक अनुबंध होता है। जिसमें बीमा कंपनी पॉलिसीधारक द्वारा चिकित्सा के लिए किए गए सभी ख़र्चों का भुगतान करने का वादा करती है। पॉलिसी धारक को इसके बदले में बीमाकर्ता को एक सुनिश्चित राशि नियमित भुगतान करना होता है। हेल्थ बीमा पॉलिसी में पॉलिसीधारक एक ही पॉलिसी में अपने साथ अपने परिवार के सदस्यों को भी शामिल कर सकते है। जिससे भुगतान लागत कम और लाभ राशि सभी सदस्य प्राप्त कर सकेंगे।

हेल्थ इन्शुरन्स (स्वास्थ्य बीमा) के अंतर्गत, बीमा कंपनी के द्वारा चिकित्सा व्यय को दो रूपों में प्राप्त किया जा सकता है:-

  • कैशलेस उपचार
  • प्रतिपूर्ति राशि

बीमाधारक चिकित्सा ख़र्चों के लिए कैशलेस उपचार को चुन सकते है जिसमे कंपनी सीधे अस्पताल को भुगतान कर देती है। या स्वंम भुगतान करके बीमा कंपनी से प्रतिपूर्ति (अस्पताल में भुगतान की हुई) राशि प्राप्त कर सकता है। पॉलिसी की शर्तों के अनुसार, कैशलेस उपचार के लिए कंपनी द्वारा सुझाये हुए किसी नेटवर्क अस्पताल में ही इलाज करवाना जरूरी है।

एक हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी इन सभी लाभों के अलावा भी कई अतिरिक्त लाभ प्रदान करती है, जिसकी विस्तृत जानकारी हम आगे जानेंगे। 

"स्वास्थ्य बीमा स्वास्थ्य देखभाल के लिए भुगतान करने का एक अनुबंध है, जो बीमार या घायल होने के समय चिकित्सा सेवाओं पर पूर्ण भुगतान से बचाता है।"

हम सभी को स्वास्थ्य बीमा की आवश्यक क्यों है?

वर्तमान समय में यह बताने की जरुरत नही है कि हेल्थ इंश्योरेंस हमारे लिए इतना आवश्यक क्यों है। हम सभी जानते है कि पूरा विश्व एक महामारी से जूझ रहा है। जिसके कारण अपने और अपने परिवार के लिए एक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी और भी ज्यादा खरीदना महत्वपूर्ण हो जाता है। 

आज के समय में चिकित्सा देखभाल, बीमारी के लिए इलाज, अस्पताल व दवाइयों का खर्च बहुत महँगा होता जा रहा है। अगर हम प्राइवेट अस्पताल के बारे बात करें तो, यहाँ की सेवाएं एक सामान्य व्यक्ति के पहुंच से बाहर है। एक बार अस्पताल में भर्ती होने से आपके पूरे जीवन की जमा पूँजी समाप्त हो सकती है। और अगर बीमार व्यक्ति घर का मुख्य सदस्य हो तो यह स्थिति पूरे परिवार को संकट में डाल सकती है। 

हेल्थ बीमा पॉलिसी की मदद से एक छोटी सी राशि का नियमित भुगतान करके आप इन सभी चिंताओं से मुक्त हो सकते है।

भारत में सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य बीमा योजनाएँ

अभी हम कुछ ऐसी योजनाओं की चर्चा करेंगे जो बहुत ही प्रचलित है। आईआरडीए की 2018-19 की एक रिपोर्ट के अनुसार जिन बीमाकर्ताओं का दावा निपटान अनुपात सबसे अधिक उन कंपनी के कुछ प्लान्स निचे अंकित है:

योजना का नाम

प्रवेश आयु

नवीनीकरण

सुनिश्चित राशि

नेटवर्क अस्पताल

रेलिगेयर केयर बीमा पॉलिसी

न्यूनतम - 91 दिन

अधिकतम - कोई सीमा नहीं

आजीवन

6 करोड़ तक

5420+

स्टार फैमिली हेल्थ ऑप्टिमा बीमा पॉलिसी

न्यूनतम - 16 दिन

अधिकतम - 65 वर्ष

आजीवन

12 लाख रुपये से लेकर 25 लाख रुपये तक

9800+

माय: हेल्थ सुरक्षा सिल्वर स्मार्ट बीमा पॉलिसी

न्यूनतम - कोई सीमा नहीं

अधिकतम - कोई सीमा नहीं

-

3 लाख से लेकर 1 करोड़ तक

10000+

आदित्य बिड़ला एक्टिव एश्योर डायमंड बीमा पॉलिसी

न्यूनतम - 91 दिन

अधिकतम - कोई सीमा नहीं

आजीवन

3 लाख से लेकर 50 लाख रु तक

5700+

एचडीएफसी एर्गो हेल्थ ऑप्टिमा रिस्टोर (जिसे पहले अपोलो म्यूनिख ऑप्टिमा रिस्टोर के नाम से जाना जाता था)

न्यूनतम - 91 दिन

अधिकतम - 65 वर्ष

आजीवन

3 लाख से लेकर 50 लाख रु तक

5000+

उपर्युक्त योजनाओं के अलावा, हमने शीर्ष 10 स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की एक विस्तृत सूची तैयार की है।

हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी कौन खरीद सकता है?

यह कहने में कोई संदेह नहीं है कि स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी भी बाकी जरूरी वस्तुओं की तरह ही हमारे जीवन के लिए महत्वपूर्ण हो गयी है जो प्रत्येक व्यक्ति के पास होना आवश्यक है। इसके साथ ही यह सुझाव भी दिया जाता है की इसे जीवन के शुरूआती समय में भी ले लेना चाहिए। लेकिन हेल्थ बीमा पॉलिसी को खरीदने के लिए हमें कंपनी की कुछ नियमों या शर्तों को पूरा करना होता है। हम यहाँ उसी के विषय में बात करेंगे।

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने के लिए आवश्यक योग्यता निम्न है:-

प्रवेश आयु (वयस्क) - 18 से 65 वर्ष (70 वर्ष और उससे अधिक के लिए विशेष योजनाएं हैं)

प्रवेश आयु (बच्चे) - 90 दिन 18 साल तक।

नवीनीकरण क्षमता - जीवनभर नवीनीकरण क्षमता (पॉलिसी के अनुसार)।

हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी से होने वाले लाभ

हमने शुरुआत में स्वास्थ्य बीमा और उससे होने वाले कुछ लाभों के बारे में चर्चा की थी। अब विस्तार से हेल्थ बीमा पॉलिसी से जुड़े सभी लाभों को जानेंगे। 

  • कैशलेस उपचार

स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी कैशलेस सुविधा प्रदान करती है जिसमे बीमाधारक को अस्पताल में हुए खर्च के लिए कोई भुगतान नहीं करना होता है। कैशलेस उपचार के अंतर्गत, बीमाकर्ता आपकी तरफ से सीधे अस्पताल को भुगतान करता है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा की आप उपचार पर पूर्ण ध्यान दे पाएंगे। आपके इलाज व अस्पताल में भर्ती होने के मामले में यह बड़ी मदद होगी क्योंकि आपको चिकित्सा आपातकाल के दौरान धन की व्यवस्था करने की आवश्यकता होगी। एक बात ध्यान रखने योग्य है कि कैशलेस उपचार के लिए कंपनी द्वारा सुझाये हुए किसी नेटवर्क अस्पताल में ही इलाज करवाना जरूरी है।

  • अस्पताल भर्ती से पूर्व और बाद के खर्च

स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी की यह सुविधा अस्पताल में भर्ती होने से पूर्व और बाद होने वाले खर्चों (मेडिकल टेस्ट और दवाइयों के खर्च) का ध्यान रखती है। इसमें बीमाकर्ता अस्पताल भर्ती होने से कुछ निश्चित दिन पहले और बाद के सभी खर्चो का भुगतान करती है , जो की बीमारी से सम्बंधित होते है। 

  • कर लाभ (टैक्स बेनिफिट)

इसमें कोई संदेह नहीं है, यह एक हेल्थ इन्शुरन्स प्लान में निवेश हमेशा लाभकारी होता है। कोई भी बीमा पॉलिसी खरीदने पर आप कर लाभ (टैक्स बेनिफिट) प्राप्त करने के लिए उत्तरदायी होते है और ऐसा ही हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में भी होता है। हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी खरीदने पर आपको आयकर अधिनियम, 1 9 61 की धारा 80 डी के तहत प्रीमियम के लिए टैक्स बेनिफिट मिलेगा।

  • नो-क्लेम बोनस (एनसीबी)

जिस पॉलिसी वर्ष में बीमाधारक किसी भी प्रकार का दावा नहीं करते है तो बीमाकर्ता छूट के रूप में एक बोनस राशि उनको प्रदान करते है। इसे नो-क्लेम बोनस या एनसीबी का नाम दिया गया है। यह पॉलिसीधारकों को किसी भी छोटे चिकित्सकीय दावों को दर्ज न करने के लिए प्रेरित करता है। एनसीबी या नो-क्लेम बोनस पॉलिसी के रिन्यू के समय देय प्रीमियम पर छूट या बीमित राशि को बढ़ाने के रूप में मिल सकता है। पॉलिसी के रिन्यू के समय आपको यह जांचना होगा कि आपको नो-क्लेम बोनस मिल रहा है या नहीं।

  • नि: शुल्क स्वास्थ्य जांच

एक स्वस्थ जीवन की ओर सभी व्यक्तियों को प्रेरित करने के लिए, स्वास्थ्य बीमा कंपनियां कभी कभी मुफ्त चिकित्सा जांच-सुविधा सुविधा प्रदान करती हैं। कंपनी और आपके द्वारा धारित पॉलिसी के प्रकार के आधार पर, आप मुफ्त हेल्थ चेक-अप के लिए योग्य हो सकते हैं।

  • अंग प्रत्यारोपण व्यय

किसी अंग के प्रत्यारोपण की लागत बीमा कंपनी द्वारा वहन की जाती है। स्वास्थ्य बीमा में अंग दान से संबंधित सर्जरी के खर्च शामिल हैं। हालांकि, सर्जरी के बाद की जटिलताओं और चिकित्सा परीक्षण को इसमें शामिल नहीं किया गया है।

  • बीमित राशि को पुन: बहाल करना (रेस्टॉरेशन)

यह कई लोगों के लिए चिंता का विषय है कि अगर उनके परिवार में कोई व्यक्ति गंभीर रूप से बीमार हैं तो उनकी मौजूदा हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी से मिला बीमा कवर अगर समाप्त हो जाता है तो क्या होगा? ऐसी स्थिति में बीमाधारक व उनके परिवार को अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करने के लिए, बीमा कंपनियां बीमा राशि रेस्टॉरेशन लाभ प्रदान करती हैं। बीमा राशि रेस्टॉरेशन का लाभ यह है कि एक बार बीमा राशि का पूरी तरह से उपयोग किया जाने पर, बीमा कंपनी स्वचालित रूप से राशि को पुनर्स्थापित कर देगी, जिसके लिए आपको इसके लिए कोई अतिरिक्त लागत नहीं देनी पड़ेगी। आम तौर पर, सामान्य हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी की तुलना में रेस्टॉरेशन लाभ के साथ हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी महंगी होती हैं।

  • जीवनभर नवीनीकरण

जब भी आप एक हेल्थ इन्शुरन्स प्लान खरीदने की योजना बनाते हैं तो आपको हमेशा इस सुविधा की तलाश करनी चाहिए। आपके लिए ऐसी पॉलिसी के लिए जाना महत्वपूर्ण है जो बहुत लंबे समय तक सुरक्षा प्रदान करता है, खासकर बुढ़ापे के दौरान। यही कारण है कि अधिकांश हेल्थ इन्शुरन्स प्लान्स आजीवन नवीनीकरण की सुविधा के साथ आती हैं। अपनी पॉलिसी को सक्रिय रखने के लिए, आपको प्रत्येक पॉलिसी अवधि के अंत में इसे नवीनीकृत करना होगा।

आपको किस प्रकार का स्वास्थ्य बीमा (हेल्थ इन्शुरन्स) खरीदना चाहिए?

प्रत्येक व्यक्ति की अपनी पसंद और जरूरत होती है और उन्हें पूरा करने के लिए बीमा कंपनियां हेल्थ इंश्योरेंस के कई रूपों की पेशकश कर रही हैं। हेल्थ इन्शुरन्स प्लान में निवेश करना महत्वपूर्ण है, लेकिन इससे भी ज़रूरी उचित कवर के लिए जाना महत्वपूर्ण है जो आपकी आवश्यकताओं को आसानी से पूरा कर सके।

अपने अनुसार एक हेल्थ बीमा पॉलिसी लेने के लिए सबसे पहले आपको उनके प्रकारों का पता हो जरूरी है। भारत में उपलब्ध हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी के प्रमुख प्रकार निम्नलिखित हैं।

  1. व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा (इंडिविजुयल हेल्थ इन्शुरन्स)

इस प्रकार की स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी केवल एक व्यक्ति को कवर करती है। इसमें कोई भी व्यक्ति एक बड़े हेल्थ कवर के साथ जा सकता है। हेल्थ बीमा पॉलिसी का प्रीमियम भी कवर के अनुपात में काम या ज्यादा होता है। अगर आप अपने इस पॉलिसी से पुरे परिवार को हेल्थ सुरक्षा देना चाहते है तो आपको सभी के लिए अलग-अलग पॉलिसी खरीदनी पड़ेगी। लेकिन हमारा सुझाव यही है कि अगर आप पुरे परिवार के लिए स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी लेने का सोच रहे है तो केवल पारिवारिक हेल्थ पॉलिसी में ही निवेश करें। इसकी चर्चा हम आगे करेंगे। 

  1. पारिवारिक स्वास्थ्य बीमा (फैमिली फ्लोटर हेल्थ इन्शुरन्स)

फैमिली हेल्थ इन्शुरन्स एक से अधिक परिवार के सदस्यों को कवर करने के इच्छुक व्यक्ति के लिए सबसे उपयुक्त है। सभी परिवार के सदस्य पूरे बीमा राशि के लाभ का आनंद ले सकते हैं। पॉलिसी की पूरी बीमा राशि का उपयोग एक सदस्य द्वारा भी किया जा सकता है। ऐसी योजनाओं के लिए भुगतान की गई प्रीमियम की राशि अन्य योजनाओं की तुलना में काफी कम होती है। योजना के अंतर्गत, जिन सदस्यों को आसानी से कवर किया जा सकता है वह पति / पत्नी, बच्चे और माता-पिता हैं।

  1. क्रिटिकल इलनेस प्लान (गंभीर बीमारी बीमा)

क्रिटिकल इलनेस प्लान कुछ विशेष प्रकार की गंभीर बीमारी को कवर करने के लिए बनाये गए है। इसमें, पॉलिसीधारक पॉलिसी के तहत निर्दिष्ट किसी भी गंभीर बीमारी के मामले में एक निश्चित लाभ भुगतान प्राप्त करने के लिए उत्तरदायी होता है। इस एकमुश्त लाभ के साथ आप अस्पताल में भर्ती लागत का भुगतान करने में सक्षम होंगे।

  1. वरिष्ठ नागरिक स्वास्थ्य बीमा योजना (सीनियर सिटिज़न हेल्थ इन्शुरन्स)

वरिष्ठ नागरिक स्वास्थ्य बीमा योजना विशेष रूप से वृद्धावस्था (60 साल से ऊपर की आयु) के लोगों के लिए बनाई गई है। वृद्धावस्था के दौरान चिकित्सा जरूरतों के खिलाफ लड़ने के लिए यह पॉलिसी बहुत अच्छी है। आईआरडीएआई नियमों के अनुसार, प्रत्येक बीमा कंपनी को 65 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों कुछ योजनाओ का निर्माण करना होगा और उन्हें शामिल करना होगा।

  1. मातृत्व स्वास्थ्य बीमा योजना (मैटरनिटी हेल्थ इन्शुरन्स)

आजकल, लगभग हर हेल्थ इन्शुरन्स कंपनी मातृत्व स्वास्थ्य बीमा योजना (मैटरनिटी हेल्थ इन्शुरन्स) प्रदान करती है। ये योजनाएं प्रसव के दौरान अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के, बाल प्रसव और कभी-कभी नवजात शिशुओं के टीका करण खर्च भी शामिल करती है। संक्षेप में, यह आपके सभी प्रसूति व्यय को कवर प्रदान करती है। हालांकि, बीमाकर्ता से बीमाकर्ता तक सुविधाएँ और बहिष्करण भिन्न हो सकते हैं।

  1. यूनिट लिंक्ड हेल्थ प्लान (यूएलएचपी)

हेल्थ इन्शुरन्स कंपनियों ने हाल ही में यूएलएचपी पेश किए हैं। यह मूल रूप से हेल्थ इन्शुरन्स और निवेश का मिश्रण है। स्वास्थ्य संरक्षण के साथ, यूएलएचपी आपको एक पूंजी बनाने में मदद करेगा जिसका उपयोग पॉलिसीधारक द्वारा हेल्थ इन्शुरन्स प्लान्स के तहत कवर नहीं होने वाले व्यय को पूरा करने के लिए किया जा सकता है। स्वाभाविक है, रिटर्न, उस समय के बाजार स्थितियों पर निर्भर करता है। लेकिन ये पॉलिसी अभी भी विकास चरण में हैं और उन लोगों के लिए सिफारिश की जाती है जो यूनिट लिंक्ड बीमा योजनाओं (यूएलआईपी) और यूनिट लिंक्ड पेंशन योजनाओं (यूएलपीपी) जैसे उत्पादों को संभाल सकें।

हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी खरीदते समय याद रखने वाली जरुरी बातें

सबसे अच्छी स्वास्थ्य बीमा योजना की बात करे तो कुछ ऐसी पॉलिसी जो आपकी आवश्यकताओं के साथ अच्छी तरह से जा सकती है। एक हेल्थ इन्शुरन्स प्लान खरीदने के दौरान कुछ चीजें हैं जिन्हें आपको हमेशा ध्यान में रखना चाहिए

  • अपनी पॉलिसी को समझें

कोई अंतिम निर्णय लेने से पहले, यह समझना आपके लिए महत्वपूर्ण है कि यह जो पॉलिसी आप खरीद रहे है वह कितनी सुरक्षा प्रदान करेगी। अगर आप सभी बीमा प्रदाताओं की योजनाओं की तो पता चलेगा की सभी भिन्न प्रकार के लाभ प्रदान कर रहे है। आपको पूर्व-मौजूदा बीमारी, दुर्घटना से संबंधित खर्च, डे-केयर प्रक्रियाओं और मैटरनिटी ख़र्चों के खिलाफ सभी कवरेज विकल्पों की तलाश करना जरुरी है। फिर, एक उचित बीमा राशि के साथ ऐसी पॉलिसी के लिए जाओ जो आपके और आपके परिवार के लिए चिकित्सा जरूरतों के लिए पर्याप्त हो।

  • कंपनी की विश्वसनीयता

पॉलिसीधारक को चिकित्सा बीमा योजना चुनने से पहले बीमा कंपनी की वेबसाइट और उससे सम्बंधित सभी जानकारी पता करनी चाहिए। सही विकल्प चुनने के लिए ग्राहक की समीक्षाओं के साथ कंपनी के प्रोफ़ाइल और इतिहास की जाँच की जानी चाहिए।

  • क्लेम सेटलमेंट रेश्यो

स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी का चयन करते समय बीमा कंपनियों के दावा निपटान अनुपात के बारे में पूर्ण जानकारी होना अति आवश्यक है। किसी कंपनी का दावा निपटान आपको उसके द्वारा पिछले वर्षों में रद्द और निपटान किये दावों के बारे में जानकारी देता है। इस अनुपात के साथ, आप अपनी स्वास्थ्य योजना के लिए सही बीमा कंपनी चुनने में स्पष्ट होंगे। सुनिश्चित करें कि आप उच्च दावे निपटारे अनुपात के साथ ही हमेशा जाएँ।

  • सह-भुगतान (को-पे) के बारे में सोचें

जबकि आप एक हेल्थ इन्शुरन्स प्लान की तलाश में हैं, आपको अक्सर सह-भुगतान का विकल्प मिल जाएगा। आपको निर्णय लेना होगा कि आपको इसकी आवश्यकता है या नहीं। इसके लिए आपको पहले समझना होगा कि सह-भुगतान क्या है? दावा दायर करने के समय, यदि आपने सह-भुगतान का चयन किया है तो आपको दावे के पूर्व-सहमत प्रतिशत का भुगतान करना होगा और बीमाकर्ता शेष का भुगतान करेगा।

आपको यह ध्यान में रखना चाहिए कि प्लान के तहत बीमा राशि सह-भुगतान राशि से प्रभावित नहीं होगी। इसलिए, अंतिम निर्णय लेने से पहले यह सुनिश्चित करता है कि आपको सह-बीमा पॉलिसी चाहिए या नहीं।

  • बहिष्करण की जांच करें

आम तौर पर लोग विशेषताओं और लाभों की तलाश करते हैं, वे ये देखना भूल जाते है कि पॉलिसी के तहत क्या कवर नहीं है। यह बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं क्योंकि यह आपको एक स्पष्ट छवि प्राप्त करने में मदद करता है जहां आपकी बीमा पॉलिसी आपको मदद नहीं देगी।

  • पोर्टेबिलिटी विकल्प

यह सामान्य है कि कभी-कभी हम वर्तमान बीमाकर्ता से खुश नहीं होते हैं और अन्य बीमा कंपनी से पॉलिसी लेना चाहते हैं। ऐसे मामलों में आप पोर्टेबिलिटी विकल्प का लाभ उठा सकते हैं। इसके तहत, पॉलिसीधारक को बीमाकर्ता को स्विच करने की अनुमति दी जाएगी और सबसे अच्छी बात यह है कि उसे प्रतीक्षा अवधि या मौजूदा बीमाकर्ता के साथ उपलब्ध अन्य सुविधाओं और लाभों के साथ समझौता करने की आवश्यकता नहीं है।

पॉलिसीएक्स.कॉम के साथ स्वास्थ्य बीमा की तुलना क्यों करें?

पॉलिसीएक्स.कॉम एक बीमा पोर्टल है जो आपकी सभी बीमा संबंधी जरूरतों को पूरा करने में सक्षम है। पॉलिसीएक्स भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण अथॉरिटी (IRDAI) प्रमाणित वेब इंश्योरेंस एग्रीगेटर कंपनी (लाइसेंस संख्या: IRDA / WBA17 / 14) है।

आप बीमा कंपनियों के स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी की तुलना पॉलिसीएक्स पर कर सकते हैं और अपनी आवश्यकताओं के अनुसार सबसे अच्छा हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीद सकते हैं। पॉलिसीएक्स की टीम यह सुनिश्चित करती है कि आपको कम प्रीमियम पर एक अच्छी पॉलिसी प्राप्त हो। हम सबसे आसान खरीद प्रक्रिया प्रदान करने का प्रयास करते हैं। हमारे सिस्टम और टीमें खरीद प्रक्रिया से लेकर अंत तक आपकी मदद करने के लिए अच्छी तरह से सुसज्जित हैं। आइए हम पॉलिसीएक्स के बारे में निम्नलिखित मुख्य बातों पर ध्यान दें:

  • PolicyX.com निष्पक्ष उद्धरण के साथ एक मुफ्त तुलना सेवा प्रदान करता है।
  • बीमित व्यक्ति को 30 सेकंड के भीतर 10 से अधिक कंपनियों से स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की तुलना करने की सुविधा देता है। आप 5 मिनट में अपनी आवश्यकताओं के अनुसार सबसे अच्छी चिकित्सा बीमा पॉलिसी खरीद सकते हैं।
  • बुनियादी जानकारी प्रदान करके, हम आपके लिए सबसे उपयुक्त स्वास्थ्य योजनाओं की खोज करते है और सुविधाओं, लागत, लाभ के आधार पर सबसे अच्छी दर्शाएंगे।
  • यह ग्राहक को ऑनलाइन फॉर्म भरकर कुछ ही मिनटों में वांछित योजना खरीदने की अनुमति देता है। अब, सभी स्वास्थ्य योजनाएं ऑनलाइन उपलब्ध हैं और आप ऑनलाइन भुगतान करके अपनी पॉलिसी तुरंत प्राप्त कर सकते हैं।
  • PolicyX.com प्रमुख बीमाकर्ता जैसे रेलिगेयर हेल्थ, मैक्स बूपा, भारती एक्सा, टाटा एआईए, एचडीएफसी एर्गो, स्टार हेल्थ आदि से योजना की तुलना प्रदान करता है।

पॉलिसीएक्स से हेल्थ इंश्योरेंस प्लान कैसे ख़रीदे?

चरण 1: इस पृष्ठ के ऊपर दाईं ओर मौजूद फॉर्म अनुभाग पर जाएं।

चरण 2: नाम, मोबाइल नंबर जैसे मूल विवरण भरें और "जारी रखें" पर क्लिक करें।

चरण 3: ड्रॉप डाउन टैब से वांछित विकल्प चुनें, जिसमें "कवर फॉर" यानि 1 वयस्क, 2 वयस्क और 1 बच्चा, इत्यादि दिखाए देंगे।

चरण 4: आगे बढ़ने के लिए अपना 'जन्म तिथि', 'ईमेल आईडी', 'शहर' भरें और "आगे बढे" पर क्लिक करें।

चरण 5: तुलना करें और वांछित योजना का चयन करें और "योजना खरीदें" पर क्लिक करें।

चरण 6: अपने मेडिकल इतिहास, पहचान प्रमाण और आवश्यक दस्तावेजों के साथ फॉर्म भरें और "सहेजें और जारी रखें" पर क्लिक करें।

चरण 7: विभिन्न उपलब्ध ऑनलाइन भुगतान विधियों के माध्यम से भुगतान करें।

चरण 8: इसके बाद आप बीमाकृत हो जायेंगे।

पॉलिसीएक्स.कॉम की टीम तुरंत ईमेल पर पॉलिसी दस्तावेजों को साझा करेगी। (* नोट: चिकित्सा परीक्षण योजना सुविधाओं और बीमा कंपनी के मानदंडों और शर्तों के अनुसार किया जाएगा)।

हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी से बीमा राशि कैसे प्राप्त करें?

बीमा पॉलिसी का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा दावा निपटान प्रक्रिया है। लोग अक्सर अपने क्लेम के भुगतान के बारे में चिंता करते हैं। कुछ बीमा कंपनियां प्रत्यक्ष दावा निपटान प्रक्रिया की पेशकश करती हैं और कुछ दावा निपटान के लिए टीपीए (थर्ड पार्टी एडमिनिस्ट्रेटर) की मदद लेते हैं। दावा निपटान प्रक्रिया दो रूपों में होती है जो नीचे उल्लिखित हैं:

  • कैशलेस

आप केवल बीमा कंपनी के नेटवर्क वाले अस्पतालों में नकद रहित उपचार सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। अस्पताल में भर्ती होने या किसी आपात स्थिति के मामले में निर्दिष्ट समय सीमा के भीतर टीपीए को पहले सूचित किया जाना चाहिए। अस्पताल का इन्शुरन्स डेस्क सभी कागजी कार्य के साथ मदद करता है। टीपीए को मेडिक्लेम राशि को मंजूरी देनी होती है और अस्पताल बीमाकर्ता से सीधे इसका भुगतान प्राप्त करेगा। यदि कोई उपचार आपकी हेल्थ बीमा में कवर नही होने की संभावना पर टीपीए का भुगतान नहीं होगा। इस तरह के खर्च सीधे अस्पताल नकद काउंटर पर रोगी पक्ष द्वारा भुगतान किया जाता है।

  • प्रतिपूर्ति

बीमाकर्ता नेटवर्क और गैर-नेटवर्क वाले अस्पतालों में प्रतिपूर्ति सुविधा का लाभ उठा सकता है। यहां, आप उपचार सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं और सीधे अस्पताल के साथ बिल का निपटारा कर सकते हैं। इसके बाद आप प्रासंगिक बिल और रसीद जमा करके टीपीए से किए गए खर्चों की प्रतिपूर्ति का दावा कर सकते हैं।

मेडिक्लेम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के लिए आवश्यक दस्तावेज

यदि आपने ऑनलाइन मेडिक्लेम इन्शुरन्स खरीदने का फैसला किया है, तो ऐसे कुछ दस्तावेज़ हैं जिन्हें आपको प्रदान करने की आवश्यकता है जैसे कि:

  • आयु का प्रमाण: पैन कार्ड, स्कूल या कॉलेज प्रमाण पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, आदि।
  • फोटो पहचान प्रमाण: आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, आदि।
  • पते का प्रमाण: राशन कार्ड, बैंक अकाउंट स्टेटमेंट, बिजली बिल, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, टेलीफ़ोन बिल, आदि।
  • आय का प्रमाण: नियोक्ता का प्रमाण पत्र, सैलरी स्लिप, फॉर्म 16, आदि।
  • मेडिकल चेकअप: अगर बीमा कंपनी से पूछा जाए।
  • फोटो प्रमाण: पॉलिसीधारक का पासपोर्ट आकार का फोटो।

हेल्थ इन्शुरन्स कंपनियां